ताज़ा खबर
 

Tamil Nadu: गा-गाकर अंग्रेजी सिखाती हैं ये टीचर, अनोखे तरीके से बन गईं छात्रों की फेवरेट

47 साल की इस शिक्षिका ने राष्ट्रगान से प्रेरित एक तमिल गीत भी लिखा है।वह अपनी कक्षा में छात्रों को पहले ही गाना सिखा चुकी हैं, वहीं उन्हें स्कूल के बाकी छात्रों को भी यही सिखाने के लिए कहा गया है। बता दें इवानजलिंग को साल 1994 में-बहुआयामी शिक्षक का अवॉर्ड भी मिल चुका है।

Author चेन्नई | July 6, 2019 11:52 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

तिरुपुर में इवानजलिंग प्रिसिलिया नाम की एक शिक्षिका द्वारा छात्रों को पढ़ाने का एक अनोखा तरीका सामने आया है। यहां वह अविनाशी के पास चय्युर सरकारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में बच्चों को अंग्रेजी का विषय गाकर सिखाती  हैं। उनका कहना है कि उनका यह प्रयास काफी कारगर है प्रिसिलिया इसी तरह छात्रों को अंग्रेजी भाषा में महारत हासिल करने के लिए प्रेरित करती हैं। उन्होंने बताया, ‘यह सब तब शुरू हुआ जब मैंने अपने गृहनगर यरकौड के एक निजी स्कूल में अपना शिक्षण करियर शुरू किया। वहां मैंने कुछ शिक्षकों को छात्रों को कविताएं सुनाते हुए देखा। छात्रों को पढ़ाने का यह तरीका वहां बेहतर काम कर रहा था।

अपनाया यह तरीकाः इवानजलिंग बताती है कि लोगों के बीच ऐसी धारणा बनी हुई है कि सरकारी स्कूल के छात्र अंग्रेजी बोलने में अच्छे नहीं होंगे। उन्होंने कहा मैंने सोचा कि क्यों न मैं गाकर छात्रों को सिखाने की कोशिश करूं। इससे वे जल्दी समझ सकेंगे और कविता के जरिए चीजों को याद रख सकते हैं। इवानजलिंग न केवल कविताओं की धुन बनाती हैं बल्कि उन्हें अंग्रेजी और तमिल भाषा में ट्रांसलेट भी करती हैं। उन्होंने कहा, ‘कभी-कभी, छात्रों के लिए कविताओं के अर्थ को समझना और उचित उच्चारण को पकड़ना मुश्किल होता है। इस तरीके के इस्तेमाल से अधिकतर छात्र आसानी से समझ जाते हैं और उनकी अंग्रेजी में भी सुधार हो रहा है।

National Hindi News, 05 July 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

राष्ट्रगान से प्रेरित एक तमिल गीत लिखाः 47 साल की इस शिक्षिका ने राष्ट्रगान से प्रेरित एक तमिल गीत भी लिखा है।वह अपनी कक्षा में छात्रों को पहले ही गाना सिखा चुकी हैं, वहीं उन्हें स्कूल के बाकी छात्रों को भी यही सिखाने के लिए कहा गया है। बता दें इवानजलिंग को साल 1994 में-बहुआयामी शिक्षक का अवॉर्ड भी मिल चुका है। उन्होंने कहा, “मैं हमेशा छात्रों की बोली जाने वाली अंग्रेजी को बेहतर बनाने की कोशिश करती हूं। उन्हें एक दिन में कम से कम पांच नए शब्द सिखाए जाते हैं। उनके छात्र उनकी काफी तारीफ करते हैं। स्कूल के छात्रों ने बताया, ‘ उसकी कक्षाएं कभी सुस्त नहीं होती हैं और उनके शिक्षण दृष्टिकोण ने हमें अंग्रेजी में रुचि विकसित करने में मदद की है। उन्होंने बताया कि पहले के विपरीत, हम अंग्रेजी में संवाद करने में संकोच नहीं करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App