आरआरबी एनटीपीसी एग्जाम के सभी जोन के नतीजे हुए घोषित - Jansatta
ताज़ा खबर
 

आरआरबी एनटीपीसी एग्जाम के सभी जोन के नतीजे हुए घोषित

मार्च और मई में आयोजित हुई इस परीक्षा में पास होने वाले उम्मीदवारों को मेन्स परीक्षा में बैठना होगा, जिसके तारीख की घोषणा जल्द ही घोषित की जाएगी।

इस परीक्षा में भर्ती के पदों की संख्या से 15 गुना ज्यादा उम्मीदवार जाने की आशंका है। आरआरबी परीक्षा के रिजल्ट जोन के अनुसार जारी करेगा और हर क्षेत्र की वेबसाइट पर रिजल्ट अपलोड किए जाएंगे।

रेलवे भर्ती बोर्ड की एनटीपीसी परीक्षा के नतीजों में लगातार देरी होती जा रही थी। लेकिन अब वह इंतजार खत्म हो गया है। रेलवे भर्ती बोर्ड ने एनटीपीसी एग्जाम के नतीजे घोषित कर दिए हैं। हालांकि, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स ने नतीजे जल्द से जल्द घोषित होने की संभावना जताई थी। रिपोर्ट्स में बताया गया था कि परीक्षा के रिजल्ट इसी महीने के पहले पखवाड़े में जारी किए जा सकते हैं। लेकिन आरआरबी ने दिसंबर के दूसरे सप्ताह में ही परिणाम घोषित कर दिए।

भारतीय रेलवे के प्रवक्ता अनिल कुमार सक्सेना ने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा था कि परीक्षा के नतीजों की प्रक्रिया अंतिम चरण पर है और दिसंबर के पहले पखवाड़े तक इसके परिणाम जारी किए जा सकते हैं। कई बार नतीजों की तारीख आगे बढ़ा दी गई है और कई महीनों से 57 लाख उम्मीदवारों का इंतजार बरकरार रहता है। पहले बताया जा रहा था कि गलतियों से बचने के लिए रिजल्ट में ज्यादा मेहनत की जा रही है और इसकी वजह से परिणामों में देरी हो रही है।

मार्च और मई में आयोजित हुई इस परीक्षा में पास होने वाले उम्मीदवारों को मेन्स परीक्षा में बैठना होगा, जिसके तारीखों की घोषणा पहले चरण के रिजल्ट घोषित होने के बाद होगी। इस परीक्षा में भर्ती के पदों की संख्या से 15 गुना ज्यादा उम्मीदवार जाने की आशंका है। आरआरबी परीक्षा के रिजल्ट जोन के अनुसार जारी किए गए हैं। हर जोन की वेबसाइट पर रिजल्ट अपलोड किए गए हैं। आरआरबी ने एक ही दिन में सभी जोन के नतीजे घोषित किए हैं। हर जोन के अनुसार ही उम्मीदवार नतीजे देख सकेंगे। बता दें कि रेलवे भर्ती बोर्ड ने 18252 एनटीपीसी पदों के लिए इसी साल मार्च, अप्रैल, मई में इस परीक्षा का आयोजन किया था। इस परीक्षा के लिए 93 लाख लोगों ने आवेदन किया था, जिसमें से 56 लाख केंडिडेट्स ने लिखित परीक्षा में भाग लिया था।

असम: तेज़ रफ्तार ट्रेन की चपेट में आने से 3 हाथियों की मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App