ताज़ा खबर
 

QS World University Ranking 2022: आईआईएससी बैंगलोर है टॉप रिसर्च यूनिवर्सिटी, यहां जाने बाकी यूनिवर्सिटीज की रैंकिंग

QS World University Ranking 2022: हालांकि, 35 यूनिवर्सिटी में 23 ने फैकल्टी /स्टूडेंट इंडिकेटर रेश्यो में गिरावट देखी है, जबकि केवल छह ने सुधार हुआ है।

लंदन स्थित क्वाक्वेरेली साइमंड्स (क्यूएस) द्वारा किए गए विश्लेषण में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस ने साइटेशन्स पर फैकल्टी इंडिकेटर में पूरे 100 अंक प्राप्त किए हैं।

क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022  जारी कर दिया गया है। इस रैंकिंग में भारत की तीन यूनिवर्सिटी ने टॉप 200 में अपनी जगह बनाई है। क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग के लिए इंस्टिट्यूट और यूनिवर्सिटी को एकेडमी रेपुटेशन, एंपलॉयर रेपुटेशन, साइटेशन्स पर फैकल्टी, फैकल्टी/ स्टूडेंट रेश्यो, इंटरनेशनल फैकल्टी रेश्यो और इंटरनेशनल स्टूडेंट रेश्यो के 6 इंडिकेटर पर जज किया जाता है।

क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग के अनुसार, साइटेशन्स पर फैकल्टी इंडिकेटर के आधार पर इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बैंगलोर को दुनिया का टॉप रिसर्च इंस्टीट्यूट घोषित किया गया है। जबकि इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गुवाहाटी ने इस कैटेगरी में 41वां स्थान प्राप्त किया है।

लंदन स्थित क्वाक्वेरेली साइमंड्स (क्यूएस) द्वारा किए गए विश्लेषण में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस ने साइटेशन्स पर फैकल्टी इंडिकेटर में पूरे 100 अंक प्राप्त किए हैं। रैंकिंग के 18वें एडिशन के अनुसार, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बॉम्बे, क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2022 में लगातार चौथे साल भारत का टॉप इंस्टीट्यूट है। हालांकि, यह 2021 के 172 रैंक से गिरकर 177 रैंक पर आ गया है।

आईआईटी दिल्ली भारत की दूसरी बेस्ट यूनिवर्सिटी है। यह पिछले साल के 193 रैंक से बढ़कर 185 रैंक पर आ गई है। आईआईटी मद्रास भी अब जॉइंट 255 के रैंक पर है, जो कि साल 2017 से इसकी बेस्ट रैंक है और आईआईटी खड़गपुर कि 280 रैंक है।‌ वहीं, गुवाहाटी ने जॉइंट 395 में ग्लोबल टॉप 400 में पहली बार अपनी जगह बनाई है।

आईआईटी हैदराबाद भी 591-600 रैंक बैंड के साथ पहली बार टॉप 600 में शामिल हुआ है। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी ने भी क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में अपनी शुरुआत की है और इसे 561- 570 के बैंड में रखा गया है। भारतीय यूनिवर्सिटी ने ग्लोबल कंपीटीटर्स की तुलना में अपने रिसर्च इंपैक्ट में सुधार किया है। भारत के 35 यूनिवर्सिटी में 17 ने सीपीएफ स्कोर में सुधार किया है। जबकि, केवल 12 यूनिवर्सिटी ने इसमें गिरावट दर्ज की है।

हालांकि, 35 यूनिवर्सिटी में 23 ने फैकल्टी /स्टूडेंट इंडिकेटर रेश्यो में गिरावट देखी है, जबकि केवल छह ने सुधार हुआ है। मैसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ने लगातार 10वें साल दुनिया में नंबर एक पर है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी 2006 के बाद पहली बार दूसरे स्थान पर पहुंचा है, जबकि स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी और कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी तीसरे स्थान पर हैं।

Next Stories
1 KVS Admission New Schedule: केंद्रीय विद्यालय ने एडमिशन के लिए जारी किया नया शेड्यूल, पढ़िए पूरी डिटेल
2 AIIMS PG 2021: एम्स ने इस एग्जाम के लिए जारी किए एडमिट कार्ड, ये रहा डाउनलोड करने का डायरेक्ट लिंक
3 Shirley Temple Google Doodle: कौन थी शर्ले टेम्पल, जिनपर गूगल ने आज बनाया है खास डूडल
ये पढ़ा क्या?
X