ताज़ा खबर
 

QS World University Ranking: इंजीनियरिंग के लिए विश्‍व की टॉप 50 यूनिवर्सिटी में IIT बॉम्‍बे और IIT दिल्‍ली को जगह

QS World University Ranking by Subject: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) ने, जिसने 2019 QS रैंकिंग में आर्ट्स एंड ह्यूमैनिटीज में 164वीं रैंक हासिल की थी, इस बार अपनी स्थिति में दो स्थानों का सुधार किया है।

IIT-D की 2020 QS रैंकिंग 2019 की रैंकिंग से काफी बेहतर है, पिछले वर्ष इसका 61वां स्थान था।

QS World University Ranking: बुधवार को जारी QS World University Ranking by subject में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बम्‍बई और दिल्ली ने इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के लिए दुनिया के टॉप 50 संस्थानों में अपनी जगह बनाई है। 47वें रैंक पर IIT-D, IIT-Bombay से तीन स्थान पीछे है। इस लिस्‍ट में IIT-Bombay टॉप भारतीय संस्थान है। IIT-D की 2020 QS रैंकिंग 2019 की रैंकिंग से काफी बेहतर है, पिछले वर्ष इसका 61वां स्थान था।

IIT दिल्‍ली के निदेशक वी रामगोपाल राव ने कहा, “हम इस वर्ष अपनी रैंकिंग में महत्वपूर्ण सुधार देखकर बहुत खुश हैं। यह परिसर में अनुसंधान पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देने के लिए, बाहरी हितधारकों के साथ हमारे संपर्क को मजबूत करने, संस्थान से महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीयकरण के प्रयासों को बढ़ाने और पिछले तीन वर्षों में शुरू किए गए विभिन्न अन्य उपायों के कारण है। इसका श्रेय पूरी टीम को जाता है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय और IIT दिल्‍ली के पूर्व छात्रों ने इसे बनाने में बहुत रचनात्मक भूमिका निभाई है। ”

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) ने, जिसने 2019 QS रैंकिंग में आर्ट्स एंड ह्यूमैनिटीज में 164वीं रैंक हासिल की थी, इस बार अपनी स्थिति में दो स्थानों का सुधार किया है। सामाजिक विज्ञान और मैनेजमेंट के क्षेत्र में भी JNU ने पिछले साल अपनी रैंक को 355 से सुधारकर 284 कर दिया है। हालांकि, दिल्ली विश्वविद्यालय ने 160 की रैंक के साथ दूसरों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया, जबकि IIT दिल्‍ली ने इस कैटेगरी में 183वीं रैंक हासिल की।

JNU के कुलपति एम जगदीश कुमार ने ट्वीट किया, “एक विश्वविद्यालय के रूप में, हमारा ध्यान केवल अकादमिक उत्कृष्टता प्राप्त करने पर होना चाहिए। आइए हम अपनी रैंकिंग को बेहतर बनाने के लिए निरंतर मेहनत करें।”

प्राइवेट विश्वविद्यालयों में, ओ पी जिंदल विश्वविद्यालय ने इस साल QS रैंकिंग में जगह बनाई। इसके साथ ही जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल को भारत के शीर्ष लॉ स्कूल में स्थान दिया गया। विश्व रैंकिंग में, इसने 100-150 ब्रैकेट पर कब्जा किया है।

Next Stories
1 Coronavirus: बोर्ड एग्जाम में ये चीजें लेकर आ सकते हैं 10वीं, 12वीं के छात्र, CBSE ने जारी किए निर्देश
2 SSC CHSL Tier 1 Admit Card 2020: ssc.nic.in पर एडमिट कार्ड का डाउनलोड लिंक एक्टिव, 16 मार्च से शुरू पेपर-1
3 रेलवे भर्ती पर लोकसभा में रेल मंत्री ने दिया जवाब, समझें RRB NTPC और Group D भर्ती की पूरी डिटेल
ये पढ़ा क्या?
X