ताज़ा खबर
 

BRICS देशों की टॉप 10 यूनिवर्सिटी में भारत का IIT- Bombay, 300 से ज्यादा संस्थानों से था मुकाबला

ब्रिक्स(BRICS) देशों की टॉप 10 यूनिवर्सिटीज की लिस्ट में भारत के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बोम्बे (IIT- Bombay) और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइन्स, बेंगलुरु को भी शुमार किया गया है।

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बोम्बे (Source: Express Archive)

ब्रिक्स(BRICS) देशों की टॉप 10 यूनिवर्सिटीज की लिस्ट में भारत के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बोम्बे (IIT- Bombay) और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइन्स, बेंगलुरु को भी शुमार किया गया है। आईआईटी बॉम्बे को टॉप 10 में 9वां और IISc को 10वां स्थान मिला है। टॉप 10 की यह सूची Quacquarelli Symonds द्वारा जारी की गई है। बता दें ब्रिक्स समूह के पांच देशों (ब्राजील, रूस, इंडिया, चीन और साउथ अफ्रीका) की 300 से ज्यादायूनिवर्सिटीज में से टॉप 10 की यह लिस्ट तैयार की गई है। वहीं IIT रुड़की भी ब्रिक्स देशों की टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट में 51वें स्थान पर अपनी जगह बनाने में कामयाब रही। इसके अलावा भारत की कुछ प्राइवेट यूनिवर्सिटीज BITS पिलानी, थापर यूनिवर्सिटी, सिम्बोयसिस इंटरनेशन यूनिवर्सिटी और ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी भी लिस्ट में शुमार की गई है।

इसके अलावा 300 से ज्यादा की लिस्ट में भी भारत के कई संस्थानों ने अपनी जगब बनाई है। आईआईटी दिल्ली 15वें स्थान पर, आईआईटी मद्रास 18वें स्थान पर, आईआईटी कानपुर 21वें स्थान पर, आईआईटी खड़गपुर 24वें स्थान पर, दिल्ली यूनिवर्सिटी 41वें स्थान, आईआईटी रुड़की 51वें स्थान, आईआईटी गोवाहाटी ने 52वें स्थान और यूनिवर्सिटी ऑफ कलकत्ता ने 64वें स्थान पर अपनी जगह बनाई है। टॉप 10 की लिस्ट में चीन की यूनिवर्सिटीज सबसे ज्यादा हैं। 10 में से 7 पोजिशन्स पर चीनी यूनिवर्सिटीज हैं। टॉप पोजिशन भी चीन की सिंघुआ यूनिवर्सिटी ने हासिल की है। चलिए देखते हैं टॉप 10 की लिस्ट।

BRICS टॉप 10 यूनिवर्सिटीज
1.सिंघुआ यूनिवर्सिटी (चीन)
2.पेकिंग यूनिवर्सिटी (चीन)
3.फुडन यूनिवर्सिटी (चीन)
4.यूनिवर्सिटी ऑफ साइन्स एंड टेक्नोलॉजी (चीन)
5.लोमोनोसोव मास्को स्टेट यूनिवर्सिटी (रूस)
6.झेजियांग यूनिवर्सिटी (चीन)
7.शंघाई जिओ टोंग यूनिवर्सिटी (चीन)
8.नानजिंग यूनिवर्सिटी (चीन)
9. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी बोम्बे
10. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइन्स बेंगलुरु

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App