ताज़ा खबर
 

‘परीक्षा पे चर्चा’: PM नरेंद्र मोदी ने ली #withoutfilter वाली क्लास, क्रिकेट का ‘किस्सा’ सुना दिए एग्जाम टिप्स

PM Modi Pariksha Pe Charcha 2020 Speech: पीएम मोदी ने कहा कि अपने जीवन में तकनीक का भय न आने दें। टेक्नोलॉजी के लिए तैयार रहना चाहिए। टेक्नोलॉजी को अपना दोस्त मानना चाहिए। नई टेक्नोलॉजी को जानना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कहा कि खुद को 1-2 घंटे के लिए टेक्नोलॉजी फ्री भी रहना चाहिए।

“विफलता में भी सफलता की शिक्षा पा सकते हैं। विफलता के बाद रूकें नहीं आगे बढ़ें।” (फोटो-एएनआई)

Pariksha Pe Charcha 2020, PM Modi Pariksha Pe Charcha 2020 Speech Highlights: पीएम मोदी ने ‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम की शुरूआत #withoutfilter के साथ की। इस दौरान उन्होंने एग्जाम के लिए टिप्स भी दिए। पीएम मोदी ने दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में अपने युवा दर्शकों को मुस्कुराते हुए कहा, हम दोस्तों की तरह बात करेंगे, गलतियां हो सकती हैं। हम भी वैसे ही हल्की फुल्की बात करेंगे जैसे आप अपने दोस्तों से करते हैं। इसके अलावा पीएम ने क्रिकेट का ‘किस्सा’ सुनाया। उन्होंने साल 2001 में भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई टेस्ट सीरीज को याद किया।

पीएम मोदी ने कहा, क्या आपको 2001 में भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज याद है? हमारी क्रिकेट टीम को असफलताओं का सामना करना पड़ रहा था। मूड बहुत अच्छा नहीं था। लेकिन, उन क्षणों में क्या हम कभी भूल सकते हैं जो राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण ने किया। उन्होंने मैच को पलट दिया था। आपको बता दें कि वो सीरिज  भारत ने 2-1 से अपने नाम की थी।

पीएम मोदी ने कहा कि सिर्फ एग्जाम में मिले नंबर ही जिंदगी नहीं हैं। अपेक्षा पूरी नहीं होने पर स्टूडेंट्स अपना मूड खराब न करें। शिक्षा को अपना आधार बनाकर आगे बढ़ें। समय का संतुलन बनाकर रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम मेरे दिल के सबसे करीब है। युवा पीढ़ी से बात करना सबसे अच्छा अनुभव है।

उन्होंने टेक्नोलॉजी की बात पर कहा कि अपने जीवन में तकनीक का भय न आने दें। टेक्नोलॉजी के लिए तैयार रहना चाहिए। टेक्नोलॉजी को अपना दोस्त मानना चाहिए। नई टेक्नोलॉजी को जानना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कहा कि खुद को 1-2 घंटे के लिए टेक्नोलॉजी फ्री रहना चाहिए। विफलता में भी सफलता की शिक्षा पा सकते हैं। विफलता के बाद रूकें नहीं आगे बढ़ें।

मां बाप के लिए एक्स्ट्रा एक्टिविटी भी फैशन है। सिर्फ परीक्षा के नंबर जिंदगी नहीं हैं। कोई एक परीक्षा पूरी जिंदगी नहीं है। ये एक जरूरी पड़ाव है, लेकिन यही सब कुछ है, ऐसा नहीं मानना चाहिए। मैं माता-पिता से भी आग्रह करूंगा कि बच्चों से ऐसी बातें न करें कि परीक्षा ही सब कुछ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 RRB NTPC: आरआरबी एनटीपीसी का एडमिट कार्ड जारी होने के बाद ये हो जाएगा साफ
2 Sarkari Naukri: यूपी, हरियाणा, राजस्थान, बिहार, दिल्ली और उत्तराखंड समेत इन राज्यों में निकली हैं सरकारी नौकरी
3 Sarkari Naukri: केंद्र और राज्य सरकारों ने इन विभागों में निकाल रखी हैं सरकारी नौकरी, ऐसे करें आवेदन
ये पढ़ा क्या?
X