ताज़ा खबर
 

दो साल में ही गंवा दिए थे पैर, पर नहीं रुके कामयाबी भरे कदम: इग्नू में जीता गोल्‍ड

बचपन में उनके पैर पर एक ट्रैक्टर पलट गया था जब वह केवल दो वर्ष की थी। इस दुर्घटना में उन्‍होनें अपना बायां पैर खो दिया था।

वह पिछले कुछ वर्षों से चलने के लिए एक कृत्रिम अंग का उपयोग कर रही है। लेकिन कोई भी बाधा उनके आगे बढ़ने के जज्‍़बे और जुनून को नहीं रोक सकी।

इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (IGNOU) के दीक्षांत समारोह में 26 वर्षीय नेहा शर्मा ने कॉमर्स सब्‍जेक्‍ट के मास्‍टर्स कोर्स में स्‍वर्ण पदक जीता। दिव्‍यांग छात्रा होते हुए नेहा के लिए इस मुकाम तक पहुंचना कभी आसान नहीं था। बचपन में उनके पैर पर एक ट्रैक्टर पलट गया था जब वह केवल दो वर्ष की थी। इस दुर्घटना में उन्‍होनें अपना बायां पैर खो दिया था। वह पिछले कुछ वर्षों से चलने के लिए एक कृत्रिम अंग का उपयोग कर रही है। लेकिन कोई भी बाधा उनके आगे बढ़ने के जज्‍़बे और जुनून को नहीं रोक सकी।

नेहा ने कहा, “मेरे माता-पिता ने हमेशा मुझे प्रेरित किया और मेरा समर्थन किया। उनके बिना, मैं कामर्स में कभी अपना मास्‍टर्स पूरा नहीं कर पाती। यहां तक कि अगर मैं आगे की पढ़ाई भी करना चाहूं, तो भी वे मुझे नहीं रोकेंगे।” उन्‍होंंने दिल्ली विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ़ ओपन लर्निंग से स्नातक की पढ़ाई पूरी की और फिर 2015 में इग्‍नू में दाखिला लिया, जहाँ से उन्‍होने 2017 में 60.33 प्रतिशत अंकों के साथ स्नातक किया।

नेहा ने बताया, “मैं पढ़ाई के साथ नौकरी करना चाहती थी तो सोचा कि इग्नू एक अच्छा विकल्प होगा। मैं हफ्ते के 6 दिन काम करती थी और रविवार को क्‍लासेज़ लेती थी। वर्तमान में, मैं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही हूं। जिस इंस्‍टीट्यूट से मैं पढ़ाई करती हूं वहीं पर काउंसलर और अकाउंटेंट के रूप में काम करती रही।” नेहा आगे चलकर एक टीचर बनना चाहती हैं।

इग्‍नू का दीक्षांत समारोह बुधवार 03 अप्रैल को हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App