PCS Success Story: UPSC के साथ ही की MPPSC की पढ़ाई, रविंद्र ने पहले ही प्रयास में ऐसे पाई 5वी रैंक

PCS Success Story: रविंद्र का मानना है कि यूपीएससी परीक्षा के साथ ही एमपीपीएससी परीक्षा की भी तैयारी की जा सकती है।

MPPSC, MPPSC Topper, Ravindra Parmar, MPPSC 2021
ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद रविंद्र ने पुणे की एक मल्टीनेशनल कंपनी में करीब 6 महीने तक नौकरी की है।

PCS Success Story: आज हम आपको मध्य प्रदेश के रहने वाले रविंद्र परमार के बारे में बताएंगे। रविंद्र ने स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद हरियाणा के नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टिट्यूट से बीटेक की डिग्री हासिल की है। ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद रविंद्र ने पुणे की एक मल्टीनेशनल कंपनी में करीब 6 महीने तक नौकरी की है। इसी दौरान रविंद्र के मन में सिविल सेवा क्षेत्र में जाने का विचार आया। अपने सपने को हकीकत में बदलने के लिए रविंद्र ने नौकरी छोड़ कर दिल्ली आने का फैसला कर लिया। रविंद्र यूपीएससी (UPSC) परीक्षा के साथ ही एमपीपीएससी (MPPSC) परीक्षा की तैयारी भी करने लगे।

रविंद्र ने अपने कठिन परिश्रम और लगन के चलते यूपीएससी के पहले प्रयास में प्रिलिमनरी परीक्षा पास कर ली। इसके अलावा उन्होंने एमपीपीएससी परीक्षा के भी पहले प्रयास में ही 5वीं रैंक के साथ न केवल सफलता प्राप्त की बल्कि टॉपर्स की सूची में भी अपना नाम दर्ज करा लिया। रविंद्र बताते हैं कि ज़्यादातर समय वह यूपीएससी परीक्षा के लिए देते थे और हर दिन लगभग एक से दो घंटे एमपीपीएससी परीक्षा के लिए पढ़ते थे।

UPSC: अंकुश भाटी ने दूसरे प्रयास में पाई सफलता, ऐसे की थी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी

रविंद्र का मानना है कि यूपीएससी परीक्षा के साथ ही एमपीपीएससी परीक्षा की भी तैयारी की जा सकती है। यूपीएससी एमपीपीएससी परीक्षा का सिलेबस काफी हद तक एक जैसा होता है लेकिन दोनों ही परीक्षाओं में सवाल पूछने का तरीका अलग होता है। ऐसे में अच्छी रणनीति के साथ सफलता प्राप्त करना आसान हो सकता है।

UPSC: देव चौधरी ने दी सभी चुनौतियों को मात, चौथे प्रयास में ऐसे प्राप्त किया आईएएस का पद

रविंद्र के अनुसार एमपीपीएससी में प्रीलिम्स परीक्षा मेन्स परीक्षा से ज्यादा कठिन होती है। प्रीलिम्स परीक्षा की तैयारी के लिए रविंद्र कुछ स्टैंडर्ड किताबों को पढ़ने के अलावा पिछले साल के पेपर हल करने की सलाह देते हैं। किताबों के अलावा आप इंटरनेट पर उपलब्ध स्टडी मैटेरियल का भी उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा उनका कहना है कि कामयाबी पाने के लिए मिशन मोड में तैयारी करें और यह दिमाग में रखें कि पहले ही प्रयास में सफलता हासिल करनी है।

पढें एजुकेशन समाचार (Education News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
स्मृति ईरानी ने की IITs में संस्कृत पढ़ाए जाने की अपीलHRD Minister, Smriti Irani, Sanskrit, Sanskrit Language, IIT