PCS Success Story: अपने दूसरे प्रयास में पाई एग्जाम में पहली रैंक, ऐसे की थी परीक्षा की तैयारी

PCS Success Story: गौरव के परिवार में उनकी मां शशि कुमारी है जो किए टीचर हैं और एक भाई अमन कुमार सिंह है जो इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे हैं।

BPSC Topper Gaurav Singh, BPSC CCE Topper Gaurav Singh, BPSC Topper, BPSC CCE Topper, Bihar BPSC Topper, BPSC 65th Result 2021, BPSC CCE Results 2021
रक्षा सेवाओं के दरवाजे बंद होने के साथ, उन्होंने सिविल सेवा परीक्षाओं की तैयारी करने का फैसला किया।

PCS Success Story: बिहार लोक सेवा आयोग ने हाल ही में 65वीं संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा का रिजल्ट जारी किया था। इस एग्जाम में रोहतास जिले के गौरव सिंह ने अपने दूसरे प्रयास में पहला स्थान हासिल किया। उन्होंने ने 64वें संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा के लिए भी क्वालीफाई किया था, जिसमें उन्हें राज्य के समाज कल्याण विभाग में सहायक निदेशक का पद मिला था, लेकिन परिणाम घोषित होने से पहले ही वे इस एग्जाम में भागो ले चुके थे।

गौरव के परिवार में उनकी मां शशि कुमारी है जो किए टीचर हैं और एक भाई अमन कुमार सिंह है जो इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे हैं। उनके पिता का स्व. मनोज कुमार एयरफोर्स में थे। उनके पिता की मृत्यु उनके कम उम्र में हो गई थी।

How To Check NEET Result 2021: नीट 2021 का रिजल्ट ऐसे करें चेक, स्कोर कार्ड में मिलेंगी ये डिटेल्स

28 वर्षीय गौरव सिंह ने केआईआईटी से बीटेक मैकेनिकल इंजीनियरिंग से ग्रेजुएशन किया और तीन साल तक एक कॉर्पोरेट कंपनी में काम किया। एक कॉर्पोरेट कंपनी के साथ काम करने के बावजूद, सरकारी सेवाओं में शामिल होने की इच्छा कभी कम नहीं हुई और गौरव ने तैयारी शुरू कर दी।

उन्होंने सहायक कमांडेंट परीक्षा भी दी थी जिसकी पहली परीक्षा को पास कर लिया, लेकिन मेडिकल राउंड में कलर ब्लाइंडनेस का पता चलने के बाद वे आगे नहीं जा सके। रक्षा सेवाओं के दरवाजे बंद होने के साथ, उन्होंने सिविल सेवा परीक्षाओं की तैयारी करने का फैसला किया।

Bihar Police Constable Recruitment 2021: बिहार पुलिस कांस्टेबल भर्ती की इस परीक्षा का शेड्यूल जारी, इन कैंडिडेट्स के लिए है जरूरी

बीपीएससी प्रीलिम्स के गौरव ने बिहार के इतिहास खंड के लिए अरिहंत और ल्यूसेंट किताबें पढ़ीं। साथ ही उन्होंने यूपीएससी नोट्स का रिविजन भी किया। गौरव तीन बार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में भी शामिल हो चुके हैं, लेकिन मुख्य परीक्षा में सफल नहीं हो पाए।

पढें एजुकेशन समाचार (Education News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।