ताज़ा खबर
 

पैनासोनिक ने 15 IIT के छात्रों को दी स्कॉलरशिप

पैनासोनिक इंडिया ने 15 आईआईटी के 30 छात्रों को स्कॉलरशिप दी। नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने छात्रों को ये स्कॉलरशिप प्रदान किए। स्कॉलरशिप के तहत 30 विद्यार्थियों को त्रैमासिक आधार पर 42,500 रुपये की राशि दी जाएगी।

Author September 11, 2018 5:50 PM
प्रतीकात्मक फोटो (Source: Dreamstime)

पैनासोनिक इंडिया ने 15 आईआईटी के 30 छात्रों को स्कॉलरशिप दी। नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने छात्रों को ये स्कॉलरशिप प्रदान किए। स्कॉलरशिप के तहत 30 विद्यार्थियों को त्रैमासिक आधार पर 42,500 रुपये की राशि दी जाएगी। पैनासोनिक इंडिया ने कहा कि सीएसआर के तहत दी जाने वाली रति छात्र स्कॉलरशिप के लिए 2018 में 194 से अधिक आवेदन मिले, जिसमें से 118 आवेदनों का चयन किया गया, जिसमें से देश के 15 आईआईटी के 30 विजेताओं का चयन एक कठोर जांच व साक्षात्कार की प्रक्रिया द्वारा किया गया। पैनासोनिक इंडिया के प्रेसिडेंट एवं सीईओ मनीष शर्मा ने कहा कि भविष्य के इनोवेटर्स तथा लीडर्स के लिए एक आधार निर्मित करते हुए सीएसआर के तहत 2015 में यह स्कॉलरशिप शुरू की गई।

इसके तहत चयनित अंडरग्रेजुएट विद्यार्थियों को सहायता दी जाती है ताकि वो देश में विभिन्न भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) में उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकें। इस तरह पैनासोनिक अब तक 90 से अधिक विद्यार्थियों को सहयोग कर चुका है। इस अवसर पर नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा, “हमारे देश में विकास की दृष्टि से बड़े परिवर्तन हो रहे हैं, लेकिन इनोवेशन और रचना की दृष्टि से हमें अपनी सीमाएं बढ़ाने की जरूरत है। ये चीजें युवा इनोवेटर्स को बढ़ावा देने से हो सकती हैं, जो इस पीढ़ी में हमें ख्याति और अन्वेषण के मार्ग पर आगे लेकर जा सकते हैं।”

HOT DEALS
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Gunmetal Grey
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹0 Cashback
  • Jivi Energy E12 8 GB (White)
    ₹ 2799 MRP ₹ 4899 -43%
    ₹0 Cashback

पैनासोनिक इंडिया में कॉपोर्रेट अफेयर्स एवं सीएसआर की प्रमुख रितु घोष ने कहा, “हमने युवा प्रतिभाओं के विकास के लिए 30 योग्य विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप दी। हमने इस कार्यक्रम को 4 सालों के लिए बढ़ा दिया है जिससे और 120 अंडरग्रेजुएट्स को फायदा मिलेगा और इस कार्यक्रम के जरिये 360 छात्रों को मदद मिलेगी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App