ताज़ा खबर
 

NTA NEET 2019: ये है उम्र की सीमा, अटेंप्ट लिमिट और ओपन स्कूलिंग वालों के लिए मापदंड

NEET UG 2019 Application Form, Registration: उम्र की बात करें तो इसमें 17 साल से लेकर 25 साल तक ही आवेदन कर सकते हैं। इसमें रिजर्व कैटेगरी के लिए 5 साल की छूट है।

NEET UG 2019 Application: ओपन स्कूल वाले कैंडिडेट आवेदन कर सकते हैं, हालांकि, उनकी उम्मीदवारी अदालतों द्वारा किए गए फैसले के अधीन है।

NEET UG 2019 Application NTA NEET 2019 form: अंडरग्रेजुएट कोर्सेज के लिए नीट 2019 के रजिस्ट्रेशन 1 नवंबर से शुरू हो गए हैं। इसके तहत भारत में एमबीबीएस/बीडीएस कोर्सेज कराने वाले कॉलेज में एडमिशन मिलता है। इसके तहत सिर्फ उन्हीं कॉलेजों में एडमिशन मिलता है जो मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया और डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया से अप्रूवड हैं। नीट को 2016 में अनिवार्य कर दिया गया था और इसके मापदंड भी बदल गए थे। 2017 में इसके लिए उम्र की सीमा और अटेम्प्ट की लिमिट तय की गई थी। अब उम्र की बात करें तो इसमें 17 साल से लेकर 25 साल तक ही आवेदन कर सकते हैं। इसमें रिजर्व कैटेगरी के लिए 5 साल की छूट है। कई याचिकाओं के बाद, सर्वोच्च न्यायालय ने परीक्षा के लिए बैठने के लिए 25 साल से ऊपर के छात्रों को अनुमति दी थी। वहीं अगर अटेम्प्ट्स की बात करें तो एक कैंडिडेट केवल 3 बार ही यह एग्जाम दे सकता है।

ओपन स्कूल वाले कैंडिडेट आवेदन कर सकते हैं, हालांकि, उनकी उम्मीदवारी अदालतों द्वारा किए गए फैसले के अधीन है। मामला दिल्ली के उच्च न्यायालय, इलाहाबाद उच्च न्यायालय, लखनऊ बेंच और मध्य प्रदेश के उच्च न्यायालय जबलपुर में पहले से ही है। कैंडिडेट कक्षा 12 पास होना चाहिए या इसके लिए उपस्थित होना चाहिए। उसे भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान / जैव प्रौद्योगिकी (जिसमें इन विषयों में व्यावहारिक परीक्षण शामिल होंगे) होना चाहिए और अंग्रेजी के साथ गणित या कोई अन्य वैकल्पिक विषय के साथ पास करने वाले ही इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। कक्षा 12 की परीक्षा में कम से कम 50 प्रतिशत अंक होने चाहिए। आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवार के 40 प्रतिशत नंबर होने जरूरी हैं।

इसके अलावा जिन स्टूडेंट्स ने उच्च माध्यमिक परीक्षा या समकक्ष परीक्षा में पीसीबी / जैव प्रौद्योगिकी और अंग्रेजी के साथ प्री-प्रोफेशनल / प्री-मेडिकल परीक्षा उत्तीर्ण की है। प्री-प्रोफेशनल / प्री-मेडिकल परीक्षाओं में इन विषयों प्रक्टिकल टेस्ट शामिल हैं। वहीं अंग्रेजी अनिवार्य विषय के रूप में होनी चाहिए। इसके अलावा जो स्टूडेंट्स फिजिक्स, कैमिस्ट्री बायोलॉजी या बायोटेक्नोलॉजी में ग्रेजुएशन का फर्स्ट ईयर पास कर लिया है वह भी इस एग्जाम को दे सकते हैं। इसके अलावा जिन स्टूडेंट् ने बीएससी के दो साल किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से पास कर लिए हैं और उनके पास फिजिक्स, कैमिस्ट्री, और बायोलॉजी (बॉटनी, जूलोजी)/ बायोटेक्नोलॉजी में से कोई दो सब्जेक्ट हैं। इसके अलावा वह 12वीं फिजिक्स, कैमिस्ट्री, बायोलॉजी और इंग्लिश से पास हैं। वह इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App