ताज़ा खबर
 

हजारों शिक्षकों के लिए खुशखबरी! NCTE ने अब जीवनभर के लिए मान्य किया TET

TET Teacher Eligibility Test 2020: राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE) ने सितंबर में आयोजित उनकी आम सभा की बैठक में वैधता के विस्तार को मंजूरी देते हुए कहा था कि सर्टिफिकेट की वेलिडिटी को सात साल से बढ़ाकर लाइफटाइम तक करने का प्रावधान 'प्रोसपेक्टिव इफैक्ट' होगा।

teacher, class, class room, studentsप्रतीकात्मक तस्वीर।

TET Teacher Eligibility Test 2020: राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE) ने शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) प्रमाणपत्र की वैधता को 7 वर्ष से बढ़ाकर लाइफ टाइम तक करने की मंजूरी दे दी है। एनसीटीई की जनरल बॉडी की 50 वीं बैठक में 29 सितंबर, 2020 को यह फैसला लिया गया। शिक्षक संघों ने एनसीटीई के कदम का स्वागत किया है। हालांकि, उन्होंने उन शिक्षकों से भी इसी तरह की वैधता बढ़ाने की अपील की है जो पहले ही परीक्षा दे चुके हैं। काउंसिल ने सितंबर में आयोजित उनकी आम सभा की बैठक में वैधता के विस्तार को मंजूरी देते हुए कहा था कि सर्टिफिकेट की वेलिडिटी को सात साल से बढ़ाकर लाइफटाइम तक करने का प्रावधान ‘प्रोसपेक्टिव इफैक्ट’ होगा।

तमिलनाडु टीचर्स एसोसिएशन ने इस कदम का स्वागत किया और कहा कि इससे शिक्षकों को बहुत फायदा होगा और इस प्रावधान को उन शिक्षकों तक पहुंचाने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए जिन्होंने पहले ही परीक्षा पास कर ली है। 13 अक्टूबर को सर्कुलेटिड NCTE की 50 वीं जनरल बॉडी मीटिंग के अनुसार, ‘काउंसिल ने एजेंडा आइटम पर विचार किया और टीईटी प्रमाण पत्र की वैधता को 7 साल से बदलकर जीवनभर के लिए मंजूरी दे दी। जो उम्मीदवार पहले ही शिक्षक पात्रता परीक्षा पास कर चुके हैं और उनके पास TET सर्टिफिकेट हैं, एनसीटीई कानूनी राय लेगी और उसी के अनुसार कार्य किया जाएगा।’

एक अंग्रेजी न्यूज  वेबसाइट द हिंदू की एक रिपोर्ट के मुताबिक, तमिलनाडु टीचर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष पी. के. इलमारन का कहना है कि ‘टीचर्स, काम की कमी के कारण अपनी आजीविका खो रहे हैं और 7 साल के बाद समाप्त होने वाले प्रमाण पत्र के कारण परेशानियां होती हैं। हम काउंसिल से देश भर के शिक्षकों की दुर्दशा पर विचार करने का आग्रह करते हैं, जिनके पास पहले से ही प्रमाण पत्र हैं और साथ ही वैधता भी बढ़ाई गई है।’

TNTET योग्य शिक्षक कल्याण संघ के कॉर्डिनेटर M.Elovovan ने कहा, ‘2013 में, 70,000 से अधिक शिक्षकों ने TNTET पास किया और कई हजारों शिक्षकों को अभी तक नौकरी नहीं मिली है। यह ध्यान में रखते हुए, हम तमिलनाडु के मुख्यमंत्री से इन सभी शिक्षकों की वैधता बढ़ाने की अपील कर रहे हैं।’

वहीं विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार वी. बालकृष्णन ने कॉलेजों से कहा कि वे अपने बीएड और एमएड की पढ़ाई करने वाले छात्रों को टीईटी लेने और उसी से लाभान्वित होने के लिए प्रोत्साहित करें।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar Manifesto: 19 लाख रोजगार, फ्री टैबलेट और COVID टीका समेत बीजेपी ने किए ये वादे, विपक्ष ने घेरा
2 NTA JNUEE 2020 answer key: एनटीए ने जारी की जेएनयू एंट्रेंस एग्जाम की आंसर की, ऐसे दे सकते हैं किसी सवाल को चुनौती
3 MP Board 12th Supplementary Result 2020: मध्य प्रदेश बोर्ड 12वीं सप्लीमेंट्री का रिजल्ट जारी, ऐसे करें चेक
ये पढ़ा क्या?
X