ताज़ा खबर
 

परामर्शः एनसीईआरटी की किताबों से करें सीटेट की तैयारी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ओर से दो साल बाद केंद्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा (सीटेट) होने जा रही है।

परीक्षा 9 दिसंबर 2018 को होगी। दो स्तरों (प्राथमिक और माध्यमिक) पर होने वाली इस परीक्षा में पास होने के लिए सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 60 फीसद अंक जरूरी होते हैं।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ओर से दो साल बाद केंद्रीय अध्यापक पात्रता परीक्षा (सीटेट) होने जा रही है। यह परीक्षा केंद्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति, दिल्ली सरकार आदि के विद्यालयों में प्राथमिक और स्नातक प्रशिक्षित शिक्षक (टीजीटी) बनने के लिए आवश्यक योग्यता है। परीक्षा 9 दिसंबर 2018 को होगी। दो स्तरों (प्राथमिक और माध्यमिक) पर होने वाली इस परीक्षा में पास होने के लिए सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 60 फीसद अंक जरूरी होते हैं। इन तरीकों को अपनाकर इस परीक्षा में आसानी से सफलता हासिल की जा सकती है।

1. पाठ्यक्रम जानें

किसी भी परीक्षा में सफल होने के लिए सबसे पहले उसके पाठ्यक्रम को जानना बहुत आवश्यक है। इसके तहत दोनों स्तरों की परीक्षा में कौन से विषयों से सवाल पूछे जाएंगे, कितने सवाल परीक्षा में आएंगे आदि की जानकारी होनी चाहिए। उम्मीदवार सीटेट की वेबसाइट पर पूरी जानकारी ले सकते हैं।

2. प्रश्न-पत्रों को देखें

सीटेट पहले भी कई बार हो चुकी है। ऐसे में उम्मीदवारों को चाहिए कि वे पूर्व में आए प्रश्नपत्रों का अध्ययन करें और जानें कि कहां से और कैसे सवाल परीक्षा में पूछे जाते हैं। प्रश्नपत्रों के अध्ययन से इस बात का भी पता चलेगा कि किन विषयों से अधिक सवाल परीक्षा में आते हैं। उसी को देखते हुए अपनी तैयारी करें। इन विषयों से अधिक सवाल पूछें जाते हैं, उन्हें ज्यादा पढ़ें।

3. एनसीईआरटी जरूरी

सीटेट की तैयारी के लिए अन्य पुस्तकों के अलावा राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) की उन पुस्तकों को पढ़ना चाहिए जो विद्यालयों में पढ़ाई जाती हैं। ये पुस्तके एनसीईआरटी की वेबसाइट पर मुफ्त उपलब्ध हैं। परीक्षा में अधिकतर सवाल इन्हीं पुस्तकों के आधार पर पूछे जाते हैं।

4. मॉक टेस्ट करें

परीक्षा के माहौल से अभ्यस्त होने के लिए एक दिन छोड़कर मॉक टेस्ट का अभ्यास करें। इस टेस्ट के आधार पर अपना आकलन भी करें। इसके बाद जहां आपको कमजोरी नजर आए, उसको सही करने की कोशिश करें। अगर किसी विषय में आपको समस्या है तो उसके लिए किसी की मदद अवश्य लें।

5. चुनिंदा पढ़ें

परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम में दिए गए सभी विषयों को पढ़ने की कोशिश न करें। बल्कि कोशिश करें कि जो पढ़ें, उसे पक्का करके पढ़ें। इससे कुछ विषयों पर आपकी मजबूत पकड़ हो जाएगी। पढ़ी हुई चीजों को बार-बार दोहराएं। हालांकि कुछ विषय ऐसे हैं जिनके आधार पर सवाल आते ही हैं, उन्हें बिल्कुल भी न छोड़ें।

Next Stories
1 सिविल इंजीनियरिंग की जमीन पर हौसलों का ढांचा
2 DUSU Election 2018: NSUI, ABVP, AISA उम्मीदवारों का 23 सीटों पर मुकाबला, 52 केंद्रों मतदान
3 मध्य प्रदेश: स्कूली शिक्षा में सुधार के लिए ‘एक परिसर, एक शाला’ नाम से नया प्रयोग
आज का राशिफल
X