जरूरी जानकारी: इग्नू में पर्यावरण प्रभाव आकलन पाठ्यक्रम शुरू किया

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने पर्यावरण प्रभाव आकलन (ईआइए) का एक सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम शुरू किया है, जो स्वयं मंच के माध्यम से उपलब्ध होगा।

Author Updated: February 11, 2021 1:54 AM
CBSEसांकेतिक फोटो।

12 सप्ताह के इस पाठ्यक्रम के लिए उम्मीदवारों को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। ये यह पाठ्यक्रम जल संसाधन विकास के दृष्टिकोण से स्थायी पर्यावरणीय प्रणालियों के लिए प्रमुख चुनौतियों का आकलन करने के लिए, प्रमुख पर्यावरणीय मुद्दों की पहचान करने के लिए और जल संसाधन विकास के पर्यावरणीय प्रभाव मूल्यांकन की समझ प्रदान करता है।

इसमें पर्यावरणीय प्रभाव आकलन, पर्यावरण मूल्यांकन, ईआइए का मापन, व्यापक पर्यावरणीय प्रभाव अध्ययन, वायु गुणवत्ता प्रभाव विश्लेषण और जल गुणवत्ता प्रभाव विश्लेषण, सामाजिक-आर्थिक प्रभाव विश्लेषण, शोर प्रभाव विश्लेषण, ऊर्जा प्रभाव विश्लेषण और वनस्पति के विषय जैसे विषय शामिल होंगे। भारत में वन्यजीव प्रभाव विश्लेषण, पर्यावरणीय साइटिंग, प्रभाव मूल्यांकन के तरीके, जीवन चक्र मूल्यांकन, नियम आदि विषय इस कोर्स में शामिल हैं। कार्यक्रम छह महीने की अवधि के लिए है और जिन विद्यार्थियों ने कक्षा 12वीं पास कर ली है, वह इस पाठ्यक्रम में आवेदन कर सकते हैं।

सीबीएसई 12वीं की परीक्षा दो पालियों में होगी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं और बारहवीं कक्षाओं के लिए बोर्ड परीक्षा के कार्यक्रम की मंगलवार को घोषणा कर दी। परीक्षाएं चार मई से शुरू होगी। कार्यक्रम के मुताबिक दसवीं कक्षा के लिए परीक्षा सात जून को खत्म हो जाएगी, जबकि बारहवीं की परीक्षा का समापन 10 जून को होगा। इस साल बारहवीं की परीक्षा दो पालियों में आयोजित होगी।

सुबह की पाली की परीक्षा की शुरुआत सुबह साढ़े दस बजे से होगी जबकि दूसरी पाली में परीक्षा दोपहर को ढाई बजे से शुरू होगी। दूसरी पाली की परीक्षा सिर्फ चार दिन होगी। कोरोना महामारी को देखते हुए पहली पाली में ड्यूटी करने वाले कर्मचारियों को दूसरी पाली में ड्यूटी नहीं दी जाएगी। बोर्ड ने तीन महीने पहले परीक्षा कार्यक्रम की घोषणा की है जिससे विद्यार्थियों को तैयारी का पर्याप्त समय मिल जाएगा।

पिछले साल के मुकाबले इस साल कम दिनों में परीक्षाएं संपन्न होंगी। 2020 में परीक्षाओं का कार्यक्रम 45 दिन का बनाया गया था जबकि इस साल 39 दिनों में परीक्षाएं खत्म हो जाएंगी। दसवीं की 75 विषयों में और बारहवीं की 111 विषयों में परीक्षाएं आयोजित होंगी।

उत्तराखंड बोर्ड परीक्षाएं मई में

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद (यूबीएसई) द्वारा राज्य के संबद्ध शासकीय और गैर-शासकीय विद्यालयों में शैक्षणिक वर्ष 2020-21 में दसवीं और बारहवीं के विद्यार्थियों के लिए बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन मई 2021 में किया जाएगा। उत्तराखंड बोर्ड दसवीं और बारहवीं परीक्षा 2021 की तारीखों को लेकर जारी सूचना के अनुसार परीक्षाओं का आयोजन चार मई से किया जाएगा और ये परीक्षाएं 22 मई 2021 तक चलेंगी।

दूसरी तरफ, 10वीं और 12वीं कक्षाओं के लिए प्रोयोगिक परीक्षाओं का आयोजन 3 अप्रैल से 25 अप्रैल 2021 तक किया जाएगा। इस वर्ष परीक्षा अवधि को कम रखने के उद्देश्य से उत्तराखंड बोर्ड द्वारा परीक्षाओं का आयोजन निर्धारित तिथियों पर दो पालियों में किए जाने की घोषणा की गई है। इनमें से सुबह आठ बजे से शुरू होने वाली तीन घंटे वाली पाली में दसवीं के विभिन्न पेपर आयोजित किए जाने हैं, वहीं दोपहर की पाली में दो बजे से शाम पांच बजे तक बारहवीं कक्षा के पेपर होंगे।

सीबीएसई बच्चों में कौशल
को बढ़ावा देगा

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत स्कूली बच्चों में कौशल बढ़ाने की दिशा में कदम बढ़ाया है। इसके लिए बोर्ड नेशनल स्किल डेवलपमेंट कोरपोरेशन (एनएसडीसी) के सहयोग से पहली जूनियर स्किल प्रतियोगिता आयोजित करने जा रहा है। प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य बच्चों के कौशल को बढ़ावा देने के साथ-साथ उन्हें करिअर के विकल्प तलाशने में मदद करना है। सीबीएसई ने इस साल से जूनियर स्किल्स चैंपियनशिप की परिकल्पना की है। इसे देशभर के सीबीएसई स्कूलों में आयोजित किया जाएगा।

Next Stories
1 जानें-सीखें: शांतिपूर्ण प्रदर्शन का अधिकार देता है संविधान
2 परामर्श: जीवन में सफलता के लिए सिर्फ ज्ञान और जुनून ही काफी नहीं
3 विशेषज्ञ की कलम से : ‘स्टेम शिक्षा’ से भविष्य की राह होगी आसान
यह पढ़ा क्या?
X