ताज़ा खबर
 

कर्नाटक में 5वीं क्‍लास तक के लिए लाइव ऑनलाइन क्‍लासेज़ पर बैन, बच्‍चों की सेहत के मद्देनज़र लिया गया फैसला

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोसाइंसेस (NIMHANS) द्वारा प्रस्तुत एक रिपोर्ट में कहा गया था कि इस तरह की ऑनलाइन कक्षाएं छह साल से कम उम्र के छात्रों के लिए आदर्श नहीं हैं।

Author Translated By Raviraj Verma June 11, 2020 1:27 PM
E-learning, Online Live Classesप्राइवेट स्कूलों को ऑनलाइन टीचिंग के लिए फीस वसूलने की अनुमति भी नहीं दी जाएगी। (Representational Image)

कर्नाटक सरकार ने बुधवार को पांचवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए राज्य भर के स्कूलों द्वारा संचालित लाइव ऑनलाइन कक्षाओं को रोकने का फैसला किया है। हालांकि, लाइव ऑनलाइन कक्षाओं को माध्यमिक कक्षाओं के लिए जारी रखने की अनुमति दी जाएगी। कर्नाटक के प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस सुरेश कुमार ने कल बेंगलुरु में विभिन्‍न एजुकेशन स्‍टेकहोल्‍डर्स से मिलने के बाद जानकारी दी।

एस सुरेश कुमार ने कहा, “पूर्व-प्राथमिक (LKG, UKG) और प्राथमिक कक्षाओं (कक्षा 5 तक) के लिए ऑनलाइन कक्षाएं आयोजित नहीं की जाएंगी। इस तरह की कक्षाएं क्‍लासरूम टीचिंग जितनी कारगर नहीं हैं और छात्रों की आयु और मानसिक कल्याण को प्रभावित कर सकती हैं।” उन्होंने यह भी कहा कि प्राइवेट स्कूलों को ऑनलाइन टीचिंग के लिए फीस वसूलने की अनुमति भी नहीं दी जाएगी।

इससे पहले, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ एंड न्यूरोसाइंसेस (NIMHANS) द्वारा प्रस्तुत एक रिपोर्ट में कहा गया था कि इस तरह की ऑनलाइन कक्षाएं छह साल से कम उम्र के छात्रों के लिए आदर्श नहीं हैं। राज्‍य सरकार ने कम आयु के बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य को ध्‍यान में रखते हुए यह फैसला लिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 NIRF Rankings 2020: देश के टॉप कॉलेज-यूनिवर्सिटी की रैंकिंग जारी, टॉप-10 से बाहर DU, दूसरे नंबर पर जेएनयू
2 RBSE: बची हुई परीक्षाओं के एडमिट कार्ड जारी, यहां से करें डाउनलोड
3 CBSE बोर्ड परीक्षा रद्द कराने सुप्रीम कोर्ट पहुंचे मां-बाप, कहा- जुलाई में चरम पर होगा COVID-19
IPL 2020 LIVE
X