ताज़ा खबर
 

JNUEE 2020: NTA ने फिर बढ़ाई जेएनयू प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन की अंतिम तिथि, वीसी ने किया ये ट्विट, देखें अपडेट

JNU admission 2020: यह दूसरी बार है जब NTA ने JNU में प्रवेश के लिए आवेदन फॉर्म जमा करने की समय सीमा बढ़ाई है, इससे पहले, 30 मार्च को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने अंतिम तिथि को बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दिया था।

Author Updated: May 1, 2020 10:32 PM
अब 15 मई 2020 तक JNUEE 2020 के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

JNU admission 2020: राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (National Testing Agency, NTA) ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा (Jawaharlal Nehru University Entrance Examination, JNUEE 2020) को लेकर नोटिफिकेशन जारी किया है। एनटीए ने नॉवेल कोरोना वायरस COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर, जेएनयू एंट्रेस एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि को बढ़ा दिया है। गुरुवार, 30 अप्रैल 2020 तक भारत में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 33,050 हो गई है, इनमें से 8,325 लोग ठीक भी हुए हैं जबकि 1,074 की मौत भी हो गई है। इसलिए, एनटीए ने मौजूदा हालात को देखते हुए ये फैसला लिया है। इच्छुक और योग्य उम्मीदवार अब 15 मई 2020 तक JNUEE 2020 के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। रजिस्ट्रेशन के लिए बढ़ी मियाद की जानकारी खुद जेएनयू के कुलपति जगदीश कुमार ने भी ट्वीटर के जरिए दी है।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के कुलपति जगदीश कुमार ने ट्विटर पर लिखा, ‘यह सभी संभावित छात्र आवेदकों की जानकारी के लिए है कि मौजूदा कठिन परिस्थितियों के कारण, एनटीए ने जेएनयूईई 2020 प्रवेश परीक्षाओं के लिए पंजीकरण और आवेदन पत्र जमा करने की समय सीमा बढ़ाकर 15 मई, 2020 तक दी है।’

दरअसल, यह दूसरी बार है जब NTA ने JNU में प्रवेश के लिए आवेदन फॉर्म जमा करने की समय सीमा बढ़ाई है, इससे पहले, 30 मार्च को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने अंतिम तिथि को बढ़ाकर 30 अप्रैल कर दिया था। इसके बाद, देश में कोरोनावायरस से पॉजिटिव लोगों की संख्या बढ़ने पर लॉकडाउन की अवधि 3 मई तक बढ़ा दी गई है। तभी यूनियन सरकार, एजेंसी ने समय सीमा को फिर से बढ़ाकर 15 मई तक करने का फैसला लिया है।

जेएनयूईई 2020: जेएनयू प्रवेश परीक्षा राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित की जाएगी। यह तीन घंटे की कंप्यूटर आधारित परीक्षा होगी। पेपर केवल अंग्रेजी माध्यम में होगा (भाषा के पेपर को छोड़कर)। प्रत्येक प्रश्न के लिए केवल एक ही प्रश्न के कई विकल्प होंगे। कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है।

बता दें कि, दूसरी ओर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) ने डिजिटल रूप से मिड सेमेस्टर परीक्षाएं आयोजित करने का फैसला भी कर लिया है, जो 4 मई तक होंगी। इंडियन एक्स्प्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, MPhil और Ph.D. करने वाले छात्रों को यूजीसी दिशानिर्देशों के आधार पर अपनी थीसिस जमा करने में भी छूट दी सकती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 CBSE Board: तो क्या अब नहीं होंगे सीबीएसई बोर्ड की 10वीं के एग्जाम, और 12वीं का क्या?
2 AP Board BESAP Exam 2020: लॉकडाउन खत्‍म होते ही होंगे SSC और बोर्ड एग्जाम, छुट्टियों में घर पहुंचाएंगे मिड-डे मील
3 Bihar Board: बिहार बोर्ड 10वीं के रिजल्ट का है इंतजार, क्या कह रहे हैं अधिकारी