ताज़ा खबर
 

JAC Inter Result 2019: स्कूल में नहीं था साइंस का टीचर, फिर भी साइंस स्ट्रीम में टॉपर बना दाल बेचने वाले का बेटा

झारखंड के कक्षा 12वीं के नतीजे मंगलवार (14 मई) को आ चुके हैं। साइंस स्ट्रीम में टॉप करने वाले राधेश्याम ने बताया कि बिना किसी साइंस टीचर के उन्होंने यह मुकाम हासिल किया है।

प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

JAC Inter Result 2019: झारखंड बोर्ड ने 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित कर दिए हैं। इसमें राधेश्याम साहा ने टॉप किया है, जो गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं। बताया जा रहा है कि राधेश्याम के परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी ज्यादा खराब है कि उनके पिता गांव के बाजार में दाल बेचकर गुजारा चलाते हैं। वहीं, स्कूल में साइंस टीचर नहीं होने के बावजूद उन्होंने इस विषय में सबसे ज्यादा अंक हासिल किए। बता दें कि झारखंड बोर्ड ने मंगलवार (14 मई) को 12वीं का रिजल्ट जारी किया था, जिसमें साइंस स्ट्रीम के 57 प्रतिशत और कॉमर्स स्ट्रीम में 70.44 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं।

टीचर बनना चाहते हैं साहाः पाकुड़ जिले के शहरग्राम के रहने वाले राधेश्याम का कहना है कि उन्होंने यह मुकाम बिना किसी साइंस टीचर्स की मदद से हासिल किया। वह बताते हैं कि स्कूल में साइंस टीचर नहीं थे, लेकिन बाकी अन्य टीचर्स ने काफी मदद की और मुझ पर अतिरिक्त दबाव नहीं दिया। 10वीं में 82.2 फीसदी लाने वाले राधेश्याम ने 12वीं में 500 में से 499 अंक प्राप्त किए हैं।

National Hindi News, 16 May 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

इतने मिले मार्क्स: बता दें कि राधेश्याम को फिजिक्स में 96 अंक, केमिस्ट्री में 91, मैथमैटिक्स में 98, इकोनॉमिक में 89 और इंग्लिश में 75 अंक मिले हैं। राधेश्याम का कहना है कि टॉप करने के बारे में उन्होंने कभी सोचा तक नहीं था। वह भविष्य में शिक्षक बनना चाहते हैं। उनका कहना है कि हमारे गांव में शिक्षा की सुविधा नहीं है। ऐसे में मैं शिक्षक बनकर इस कमी को दूर करना चाहता हूं।

 

टीचर ने माफ की फीस : राधेश्याम के अनुसार, 12वीं की परीक्षा में उनके बड़े भाई ने काफी मदद की। उन्होंने राधेश्याम को पाकुड़ से 80  किलोमीटर दूर दुमका जाकर कोचिंग लेने की सलाह दी। बता दें कि उनके बड़े भाई कॉलेज के सेकंड ईयर के छात्र हैं। राधेश्याम दुमका में पढ़ सकें, इसके लिए उनके भाई ने पास में कोचिंग में पढ़ाना शुरू कर दिया। वहीं, राधेश्याम की लगन देखकर दुमका में उनके टीचर ने कोचिंग फीस भी माफ कर दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App