ताज़ा खबर
 

CA Final Exam: लखनऊ की इति अग्रवाल ने किया टॉप, जानिए- कितने परीक्षार्थी हुए पास?

ICAI CA Exam Result: अगर इस साल के टॉपर्स की बात करें तो उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की इति अग्रवाल ने सीए फाइनल नवंबर परीक्षा में सर्वोच्च स्थान हासिल किया है।

साल 2011 में प्रथम स्थान हासिल करने वाली इति ने 98.75 अंक हासिल किए थे, जिसमें गणित में पूरे 100 नंबर प्राप्त हुए थे। (फोटो- फेसबुक)

आज द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टेड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया ने सीए फाइनल और सीपीटी दिसंबर 2016 परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए हैं। संस्थान ने सीए फाइनल के रिजल्ट मेरिट लिस्ट के माध्यम से जारी किए हैं जबकि सीपीटी के नंबर जारी किए हैं। अगर इस साल के टॉपर्स की बात करें तो उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की इति अग्रवाल ने सीए फाइनल नवंबर परीक्षा में सर्वोच्च स्थान हासिल किया है। मीडिया रिपोर्टेस के मुताबिक इति को आईसीएआई अध्यक्ष और उपाध्यक्ष ने फोन करके बधाई दी है और इति ने 800 में से 599 नंबर यानि 74.88 फीसदी अंक हासिल किए हैं। वहीं दूसरे पायदान पर भिवंडी के पीयूष रमेश लोहिया ने कब्जा किया है और पीयूष ने 71.75 अंक हासिल किए हैं। तीसरे स्थान पर 70.75 फीसदी अंकों के साथ अहमदाबाद की ज्योति मुकेशभाई माहेश्वरी रहीं। इस परीक्षा में करीब 7192 उम्मीदवार पास हुए हैं।

बता दें कि साल 2011 में प्रथम स्थान हासिल करने वाली इति ने 98.75 अंक हासिल किए थे, जिसमें गणित में पूरे 100 नंबर प्राप्त हुए थे। लमारटिनियर गर्ल्स में पढ़ चुकी इति ने श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से बीकॉम ऑनर्स की पढ़ाई की है। इति ने 2011 में सीपीटी में पास होकर 2013 में आईपीसीसी पास की। इति ने सीए की पढ़ाई में ही अपना नाम रोशन नहीं किया बल्कि इति ने 2015 में सीए एग्जिक्यूटिव लेवल में ऑल इंडिया टॉपर रैंक में स्थान हासिल किया। दरससल इति को ग्रेजुएट होने की वजह से फाउंडेशन में भाग नहीं लेना पड़ा और उसके बाद इति ने नवंबर सीए फाइनल परीक्षा में भाग लिया और उसके बाद दिसंबर में सीएस फाइनल में भाग लिया। अब सीए फाइनल में तो इति ने प्रथम स्थान हासिल किया है और सीएस फाइनल के रिजल्ट आना अभी बाकी है, जो कि फरवरी में घोषित हो सकते हैं।

गौरतलब है कि आईसीएआई सीए की डिग्री के लिए सबसे पहले सीपीटी का आयोजन करता है, जिसमें ओब्जेक्टिव सवाल पूछे जाते हैं और उसमें पास होने वाले उम्मीदवारों को आईपीसीसी के दो ग्रुपों की परीक्षा में पास होना होता है। आईपीसीसी के दोनों ग्रुपों की परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवारों को फाइनल में भाग लेना होता है और उसके बाद सीए बनते हैं। वहीं आईसीएआई परीक्षाओं के साथ ट्रेनिंग भी करवाता है और उसमें आईपीसीसी करने वाले उम्मीदवार यह ट्रेनिंग करते हैं।

पंजाब चुनाव: कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा- “मुख्यमंत्री को उन्हीं के चुनावी क्षेत्र में हराउंगा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App