ताज़ा खबर
 

पुलिसकर्मियों के लिए इग्नू और एनएचआरसी तैयार करेंगे आॅनलाइन पाठ्यक्रम

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) पुलिसकर्मियों के लिए आॅनलाइन एडवांस पाठ्यक्रम तैयार करेंगे।
Author नई दिल्ली | August 4, 2017 01:04 am

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) पुलिसकर्मियों के लिए आॅनलाइन एडवांस पाठ्यक्रम तैयार करेंगे। इसके अलावा मानवाधिकार के मौजूदा पाठ्यक्रम और पुलिसकर्मियों के लिए आयोजित होने वाले मानवाधिकार के प्रशिक्षण में भी बदलाव और संशोधन किया जाएगा। इस संबंध में इग्नू और एनएचआरसी के बीच समझौता हुआ है।

इसके अलावा मानवाधिकारों के बारे में जागरूक करने के लिहाज से भी इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग एक अन्य पाठ्यक्रम तैयार करेंगे। इस कार्यक्रम का लाभ न्याय व्यवस्था, पुलिस, सरकारी कर्मचारी, सांसद, विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों से जुड़े लोगों के अलावा आम लोग भी ले सकेंगे। इग्नू के कुलपति प्रोफेसर रविंद्र कुमार ने बताया कि मानवाधिकारों से संबंधित इन पाठ्यक्रमों के लिए इग्नू अपनी वेबसाइट के अलावा ‘स्वयं’ पोर्टल का भी इस्तेमाल करेगा ताकि संबंधित समूह तक आसानी से पहुंचा जा सके। इसके अलावा इग्नू के क्षेत्रीय कार्यालयों के माध्यम से भी मानवाधिकार के संबंध में जागरूकता फैलाई जाएगी। कुलपति ने बताया कि पाठ्यक्रम के लिए सामग्री ई-किताबों और छपी किताबों के रूप में उपलब्ध होगी। कुलपति ने बताया कि इसका लाभ जल्द ही दिल्ली सहित अन्य राज्यों के पुलिसकर्मियों को मिलेगा।

वर्तमान में पुलिकर्मियों के लिए उपलब्ध मानवाधिकारों पर आॅनलाइन पाठ्यक्रम में बदलाव के लिए छह इकाइयों को लगाया गया है जो इग्नू के पोर्टल पर ई-सामग्री को अद्यतन करेंगी। सामग्री को तैयार करने में अधिक से अधिक मल्टीमीडिया का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके माध्यम से पुलिस बल में मौजूद सिपाही से लेकर सब-इंस्पेक्टर तक को प्रशिक्षित किया जाएगा, जो पुलिस बल का 80 फीसद तक होते हैं। समझौते पर इग्नू के रजिस्ट्रार (अकादमिक) एसके शर्मा और एनएचआरसी में संयुक्त सचिव जेएस कोछर ने हस्ताक्षर किए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.