X

शिक्षक दिवस 2018: लॉन्च हुआ ‘लर्नस्टॉर्म चैलेंज’, स्टूडेंट्स-टीचर्स के लिए क्या है खास? जानिए

शिक्षक दिवस 2018, Happy Teachers Day 2018 (टीचर्स डे २०१८): कक्षा तीन और 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए छह सप्ताह का यह ऑनलाइन लर्निग चैलेंज (प्रतियोगिता) नि:शुल्क होगा।

शिक्षक दिवस 2018, Happy Teachers Day 2018: शिक्षक दिवस पर बुधवार को खान एकेडमी ने पूरे देश में एक एजुकेशन चैलेंज ‘लर्नस्टॉर्म’ शुरू करने की मंगलवार को घोषणा की। कक्षा तीन और 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए छह सप्ताह का यह ऑनलाइन लर्निग चैलेंज (प्रतियोगिता) नि:शुल्क होगा। एकेडमी की तरफ से मंगलवार को जारी एक बयान में एकेडमी के प्रबंध निदेशक (भारत) संदीप बापना ने कहा, “अमेरिका में लर्नस्टार्म की उत्साहवर्धक सफलता के साथ हम तीन सफल आयोजन कर चुके हैं। पिछले साल अमेरिका के 23,000 से अधिक शिक्षकों और 975,000 से अधिक विद्यार्थियों की इनमें भागीदारी देखी गई। हमारा लक्ष्य भारतीय स्कूलों में भी इस सफलता को दोहराना है। इसके लिए पंजीकरण मध्य अगस्त से आरंभ हो गया था और अबतक 200 से अधिक स्कूलों के 18,000 से अधिक विद्यार्थी इस प्रतिस्पर्धा में नाम दर्ज करा चुके हैं।

इनमें आर.एन. पोद्दार स्कूल, नेहरू वल्र्ड स्कूल और रुस्तमजी कैम्ब्रिज इंटरनेश्नल स्कूल के विद्यार्थी भी शामिल हैं।” बयान के अनुसार, लर्नस्टार्म कार्यक्रम पांच सितंबर से 19 अक्तूबर, 2018 तक चलेगा, और इस दौरान शिक्षक कभी भी तीन आसान स्टेप्स में इस चैलेंज में अपना नाम दर्ज कर सकते हैं। बयान में कहा गया है कि इस कार्यक्रम से न केवल शिक्षकों को पूरी कक्षा के सीखने की प्रक्रिया पर नजर रखने और उसे बेहतर बनाने का अवसर मिलता है, बल्कि विद्यार्थियों के लिए भी इससे अपने हिसाब से सीखने का बेहतर अनुभव होता है। बयाना में कहा गया है कि लर्नस्टार्म विद्यार्थियों को शिक्षा में अनिवार्य महारत हासिल करने का साधन देगा, जिसका प्रभाव पूरी कक्षा में उनकी सफलता पर दिखेगा।

बयान के अनुसार, छह सप्ताह के बाद सभी छह स्तर पूरे करने वाले और सर्वाधिक भागीदारी करने वाले 10 स्कूल ‘कीप गोइंग, कीप ग्रोइंग’ पुरस्कार से सम्मानित किए जाएंगे। बतौर ग्रैंड प्राइज किसी एक स्कूल को ‘खान सुपर डे’ का अनुभव दिया जाएगा, जिसमें विजेता भागीदारों के लिए रोमांचक गतिविधियां होंगी। खान एकेडमी एक गैर लाभकारी संस्था है, जो देश में निशुल्क शिक्षा सुलभ कराने के अभियान से जुड़ी हुई है। संस्था की स्थापना खान एकेडमी इंक और टाटा ट्रस्ट ने किया है।