ताज़ा खबर
 

JEE, NEET, UGC NET के लिए अगले साल से मुफ्त कोचिंग देगी सरकार! जानिए क्या है प्लान

छात्रों को प्रवेश परीक्षाओं के लिए कोचिंग देने के लिए National Testing Agency यानी NTA जल्द ही 2,697 टेस्ट प्रैक्टिस सेंटर्स को टीचिंग सेंटर्स में बदलेगी।

CBSE की जगह अब NTA ही JEE, NEET, NET, CMAT आदि कोर्सेज की प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन कराएगी।

छात्रों को प्रवेश परीक्षाओं के लिए कोचिंग देने के लिए National Testing Agency यानी NTA जल्द ही 2,697 टेस्ट प्रैक्टिस सेंटर्स को टीचिंग सेंटर्स में बदलेगी। NTA की स्थापना केंद्र सरकार द्वारा की गई है। अब से NTA ही JEE, NEET, NET, CMAT आदि कोर्सेज में दाखिला पाने के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन कराएगी। इससे पहले यह जिम्मेदारी CBSE की थी। NTA अगले साल से छात्रों को फ्री कोचिंग देने की तैयारी कर रही है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, शिक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि प्रैक्टिस सेंटर्स 8 सितंबर से काम शुरू करेंगे। अधिकारी ने कहा, “योजना प्रैक्टिस सेंटर्स को टीचिंग सेंटर्स बनाने की है। ये कोई फीस चार्ज नहीं करेंगे और उन योग्य छात्रों की मदद करेंगे जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और जिसके कारण वे प्राइवेट कोचिंग की फीस नहीं दे सकते।” अधिकारी ने यह भी बताया कि कोचिंग से ग्रामीण और अर्ध शहरी इलाकों के छात्रों को फायदा होगा।

खबर के मुताबिक, कोचिंग प्लान के मई 2019 से शुरू होने की उम्मीद है। हालांकि कोचिंग आगामी परीक्षाओं का पहला सेट पूरा होने के बाद (मई 2019) शुरू होगी। NTA ने परीक्षाओं का शेड्यूल भी जारी कर दिया है। अधिकारी ने बताया, “शुरुआत में प्रैक्टिस सेंटर्स JEE Main के लिए ही मॉक टेस्ट की इजाजत देंगे। वहीं NEET-UG कम्प्यूटर बेस्ड टेस्ट नहीं है इस लिए शुरुआत में उसका मॉक टेस्ट नहीं होगा।” पहली बार NTA उम्मीदवारों को Joint Entrance Examination-Main (JEE-Main) – January 2019 के मॉक टेस्ट में बैठने की इजाजत देगा। मॉक टेस्ट के लिए उम्मीदवारों को NTA पर अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

रजिस्ट्रेशन के लिए NTA मोबाइल एप्लिकेशन और वेबसाइट लॉन्च करेगा। रजिस्ट्रेशन 1 सितंबर 2018 से शुरू होना है। इसी दिन UGC-NET 2018 और JEE-Main के लिए भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू होगा। रजिस्ट्रेशन 30 सितंबर तक चलेगा। टीचिंग सेंटर्स पर उम्मीदवार अपने मॉक टेस्ट के रिजल्ट्स का आकलन भी NTA मेंटर्स की मदद के साथ कर सकेंगे। उम्मीदवारों को टेस्ट प्रैक्टिस सेंटर्स के लिए स्लॉट रजिस्टर कराने होंगे। एक बार मॉक टेस्ट रिजल्ट्स घोषित होने के बाद उम्मीदवार कोचिंग सेंटर्स पर टीचर्स की मदद से अपनी गलतियां सुधार सकेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App