ताज़ा खबर
 

डीटीयू में शुरू होंगे पांच नए पाठ्यक्रम, बढ़ेंगी 150 सीटें

डीटीयू में दिल्ली सरकार के नियमों के मुताबिक आरक्षण की व्यवस्था है जिसके मुताबिक सभी पाठ्यक्रमों में 85 फीसद सीटें दिल्ली के विद्यार्थियों के लिए आरक्षित होती हैं जबकि शेष राज्यों के लिए 15 फीसद सीटें उपलब्ध होती हैं।

Author May 16, 2019 2:47 AM
बीते दिनों ही सीबीएसई कक्षा 12 का रिजल्ट जारी हुआ। फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (डीटीयू) शैक्षणिक सत्र 2019-20 से पांच नए पाठ्यक्रम शुरू करने जा रहा है। इन पाठ्यक्रमों में एमएससी भौतिक शास्त्र, एमएससी गणित, एमएससी बायोटेक्नोलॉजी, एमबीए (फैमिली बिजनेस एंड आंत्रप्रन्यॉरशिप) और एमबीए (इनोवेशंस एंड वेंचर डेवलपमेंट) शामिल हैं।
डीटीयू के कुलपति प्रोफेसर योगेश सिंह ने बताया कि नए सत्र में पांच नए पाठ्यक्रम शुरू करने जा रहे हैं। सभी पाठ्यक्रमों में 30-30 सीटें तय की गई हैं।

उन्होंने बताया कि तीनों एमएससी पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा का आयोजन करेगा। वहीं, दोनों नए एमबीए पाठ्यक्रमों में दाखिला मेरिट और समूह चर्चा के आधार पर किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इन पाठ्यक्रमों में दाखिले की प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जाएगी। डीटीयू में नए पाठ्यक्रम शुरू होने से सबसे अधिक फायदा दिल्ली के विद्यार्थियों को होगा। डीटीयू में दिल्ली सरकार के नियमों के मुताबिक आरक्षण की व्यवस्था है जिसके मुताबिक सभी पाठ्यक्रमों में 85 फीसद सीटें दिल्ली के विद्यार्थियों के लिए आरक्षित होती हैं जबकि शेष राज्यों के लिए 15 फीसद सीटें उपलब्ध होती हैं।

एमटेक में दाखिले के लिए पंजीकरण शुरू

डीटीयू ने एमटेक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आॅनलाइन पंजीकरण शुरू कर दिए हैं। इन पाठ्यक्रमों के लिए 13 जून तक पंजीकरण किए जा सकते हैं। विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग की विभिन्न शाखाओं के 20 पाठ्यक्रम पढ़ाए जाते हैं। इनमें पॉलीमर टेक्नोलॉजी, नैनो साइंस एंड टेक्नोलॉजी, बायोइंफोर्मेटिक्स, जियोटेक्निकल इंजीनियरिंग, हाईड्रॉलिक्स एंड वॉटर इंजीनियरिंग, स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर सांइस एंड इंजीनियरिंग, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, इंफोर्मेशन सिस्टम, माइक्रोवेव एंड आॅप्टिकल कम्युनिकेशंस इंजीनियरिंग, सिग्नल प्रोसेसिंग एंड डिजिटल डिजाइन, वीएलएसआइ डिजाइन एंड इम्बेडिड सिस्टम, कंट्रोल एंड इंस्ट्रूमेंटेशन, पावर सिस्टम, एन्वॉयरमेंटल इंजीनियरिंग, प्रॉडक्शन इंजीनियरिंग, थर्मल इंजीनियरिंग, बायोटेक्नोलॉजी और मैकेनिकल इंजीनियरिंग शामिल हैं। पंजीकरण शुल्क सामान्य वर्ग के लिए 1000 रुपए जबकि आरक्षित वर्गों के लिए 500 रुपए तय किया गया है। वहीं, बीडेस के लिए 8 जून से आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी। आवेदन की अंतिम तिथि 30 जून है। आवेदन डीटीयू की वेबसाइट से आॅनलाइन किए जाए सकेंगे। चार साल के इस पाठ्यक्रम में 60 सीटें तय की गई हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App