ताज़ा खबर
 

इंजीनियर से टीचर, फिर उद्यमी बने बायजू रविन्द्रन का ऐसा रहा है सफर

2011 में उन्होंने थिंक एंड लर्न कंपनी बनाई इसके जरिए कैट जैसे परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए विडियो कंटेंट के बजाय स्कूली छात्रों के लिए वीडियो कंटेंट बनाने शुरू किए। वर्ष 2011 से 2015 तक, टीम ने कक्षा 6 से 12 वीं तक के स्कूली छात्रों के लिए वीडियो कंटेंट बनाने, कई विषयों को कवर करने और इसे डिजीटल करने पर ध्यान दिया।

BYJU's app, BYJU's founderबायजू की कक्षाओं की लोकप्रियता इस हद तक बढ़ गई कि उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी और छात्रों को ट्यूशन पढ़ाने के लिए एक शहर से दूसरे शहर जाने लगे।

BYJU’s App भारत में प्रसिद्ध लर्निंग ऐप्स में से एक है। इस लर्निंग ऐप के ब्रांड एंबेसडर शाहरुख खान हैं। यह ऐप भारत में 2015 में लांच किया गया था। ऐप के लांच होने के साथ ही एक साल के अंदर 5.5 मिलयन से अधिक डाउनलोड हो गए थे। इस ऐप के संस्थापक बायजू रविन्द्रन हैं। बायजू शिक्षक बनने से पहले एक इंजीनियर थे। उनके शिक्षक बनने का सफर की भी एक कहानी है। वे अपनी छुट्टियों में भारत आये थे और उन्होंने अपने कुछ दोस्तों को कॉमन एप्टीट्यूड टेस्ट प्रवेश परीक्षा पास करने में मदद की थी। इसके बाद उनके दोस्तों ने उन्हें पढ़ाने का अनुरोध किया। इस तरह उनकी कक्षा में छात्रों की संख्या 35 से बढ़कर 1200 हो गई।
बायजू की कक्षाओं की लोकप्रियता इस हद तक बढ़ गई कि उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी और छात्रों को ट्यूशन पढ़ाने के लिए एक शहर से दूसरे शहर जाने लगे। छात्रों की संख्या लगातार बढ़ती रही और उन्हें ऑडिटोरियम और फिर बड़े स्टेडियमों में जाना पड़ा, जहां उन्होंने लगभग 25,000 छात्रों को पढ़ाया। 2007 में छात्रों ने ही इनकी क्लास को Byju’s Classes नाम दिया था।

इसके बाद 2011 में उन्होंने थिंक एंड लर्न कंपनी बनाई इसके जरिए कैट जैसे परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए विडियो कंटेंट के बजाय स्कूली छात्रों के लिए वीडियो कंटेंट बनाने शुरू किए। वर्ष 2011 से 2015 तक, टीम ने कक्षा 6 से 12 वीं तक के स्कूली छात्रों के लिए वीडियो कंटेंट बनाने, कई विषयों को कवर करने और इसे डिजीटल करने पर ध्यान दिया।
बायजू के सफल होने का सबसे बड़ा कारण उनके वीडियो लेसन, एनिमेशन, गेमिफिकेशन आदि हैं। अभी इस ऐप पर कंटेंट हिंदी और अंग्रेजी भाषा में ही उपलब्ध है मगर बायजू अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में कंटेंट बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं।
2017 में बायजू ने BYJU’s Parent Connect App लांच किया जिसके जरिए माता पिता अपने बच्चे की लर्निंग कोर्स को ट्रेक कर सकते हैं। अपने प्रयासों से बायजू भारत में शिक्षा के क्षेत्र में डिजिटलीकरण की क्रांति लेकर आए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 NTPC Recruitment 2020: डिप्लोमा ट्रेनी के पदों पर भर्ती, मिलेंगे 24 हजार रुपए तक
2 Sarkari Naukri: शिक्षा, स्वास्थ्य, सेना, पुलिस और प्रशासन समेत इन विभागों में निकली हैं सरकारी नौकरी
3 ऐसा रहा था अलग होने जा रहे IAS टॉपर टीना डाबी और अतहर आमिर खान का शैक्षणिक सफर
यह पढ़ा क्या?
X