ताज़ा खबर
 

दिल्ली विश्वविद्यालय एडमिशन: जानें- कब से शुरु होगी प्रक्रिया और क्या है कॉलेज-कोर्स से जुड़े नियम?

Delhi University Admission: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एडमिशन को लेकर हुई बैठक में एडमिशन रजिस्ट्रेशन 20, 22 और 24 अप्रैल से शुरू करने का प्रस्ताव रखा गया है।

दिल्ली विश्वविद्यालय की 77 कॉलेजों में दाखिले किए जाएंगे और इस बार एडमिशन प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम से भी आयोजित की जाएगा।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड और अन्य राज्य बोर्ड की 12वीं बोर्ड परीक्षा खत्म होने के साथ ही उम्मीदवार दिल्ली विश्वविद्यालय जैसे विश्वविद्यालयों में एडमिशन लेने की दौड़ में जुट जाएंगे। देश के विभिन्न प्रांतों के विद्यार्थी यहां एडमिशन प्राप्त करने के लिए हरसंभव कोशिश करते हैं। बताया जा रहा है कि दिल्ली विश्वविद्यालय में एडमिशन की प्रक्रिया इसी महीने तीसरे या चौथे हफ्ते से शुरू हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एडमिशन को लेकर हुई बैठक में एडमिशन रजिस्ट्रेशन 20, 22 और 24 अप्रैल से शुरू करने का प्रस्ताव रखा गया है और यह प्रक्रिया एक महीने तक जारी रहेगी, ताकि देश के विभिन्न हिस्सों के लोग आसानी से आवेदन कर सकें। बता दें कि इससे पहले मई के आखिरी में प्रवेश की प्रक्रिया शुरू की जाती है। इससे पहले आई खबरों के मुताबिक मार्च के अंत तक प्रक्रिया शुरू होने वाली थी। जानिए 2017 एडमिशन में क्या खास होगा-

इन कोर्स की हो सकती है शुरुआत
इस बार विश्वविद्यालय की विभिन्न कॉलेजों में कुछ नए कोर्स भी शुरू हो सकते हैं। बताया जा रहा है कि इस बार बॉटनी, जूलॉजी, हिंदी पत्रकारिता, संस्कृत में अंडर ग्रेजुएट कोर्स, साइकोलॉजी, पॉलिटिकल साइंस, ज्योग्राफी व फिलॉसफी जैसे कोर्स को मंजूरी मिल सकती है। वहीं कई कॉलेजों में बीएससी (ऑनर्स) फिजिक्स, बीएससी (ऑनर्स) मैथमेटिक्स, फिलॉसफी (ऑनर्स) कोर्स का श्रीगणेश किया जा सकता है। दिल्ली विश्वविद्यालय लगातार कोर्स आदि में बदलाव करके शिक्षा का स्तर बढ़ाने का प्रयास करता है।

कितने कॉलेजों में होगा एडमिशन?
दिल्ली विश्वविद्यालय की 77 कॉलेजों में दाखिले किए जाएंगे और इस बार एडमिशन प्रक्रिया ऑनलाइन माध्यम से भी आयोजित की जाएगा। इससे देश के अन्य प्रदेशों के विद्यार्थी भी आसानी से आवेदन कर सकेंगे और उम्मीदवारों को ज्यादा समय भी दिया जाएगा। वहीं हाल ही में भारत सरकार की ओर से जारी की गई एनआईआरएफ इंडिया रैंकिंग 2017 में डीयू के छह कॉलेजों को शामिल किया गया है, जिससे इस बार इन कॉलेजों में एडमिशन की मांग ज्यादा बढ़ सकती है।

कॉलेज बदलने की फीस में बदलाव
बताया जा रहा है कि इस बार कॉलेज में एक सीट बुक करवाने के बाद दूसरी कॉलेज में शिफ्ट होने पर उम्मीदवारों को कम फीस देनी पड़ सकती है। इससे पहले जब उम्मीदवार दूसरी कॉलेज की सीट लेते थे, तो उन्हें ज्यादा फीस जमा करनी होती थी। हालांकि अभी तय यह प्रस्ताव ही भेजा गया है और इस पर मंजूरी मिल सकती है।

कैसे होता है एडमिशन-
डीयू के कई अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज में दो तरह से दाखिले होते हैं और इसमें कट-ऑफ मार्क्स और एंट्रेंस टेस्ट शामिल है। जिन कोर्सेज में एडमिशन कट-ऑफ लिस्ट के आधार पर लिया जाता है, उस प्रक्रिया के तहत यूनिवर्सिटी के विभिन्न कॉलेज अपनी-अपनी कट-ऑफ लिस्ट निकालते हैं। वहीं कई प्रोफेशनल कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करवाई जाती है।

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ जारी हुआ जमानती वारंट; पीएम मोदी की शैक्षणिक योग्यता पर की थी टिप्पणी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App