ताज़ा खबर
 

क्या 8 नवंबर तक बंद रहेंगे स्कूल? मनीष सिसोदिया ने दी ये सूचना

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक रविवार दोपहर एक बजकर 35 मिनट पर गाजियाबाद के इंदिरापुरम में वायु गुणवत्ता सूचकांक 492 और राजनगर में 480 दर्ज किया गया।

Delhi pollution, Delhi schools Holiday, Delhi pollution schools, Manish Sisodia, Deputy CM Manish Sisodia,, Delhi air quality, Delhi air pollution, Delhi Delhi school, smog, air quality Delhi, Delhi pollution levels, SAFAR, Delhi air quality index, Delhi AQI, sakari, Delhi PM metter, education news in hindi, jansatta education news, jansatta.com, delhi govt, cm kejriwalदिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्यूटी सीएम मनीष सिसोदिया ने 50 लाख मास्क बांटे। (एक्सप्रेस फोटो: प्रवीन खन्ना)

दिल्ली और पड़ोसी राज्यों में वायु प्रदूषण बड़ी समस्या बन रही है। लोगों का घरों से निकला मुश्किल हो रहा है, जिसके चलते दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा के स्कूलों को 5 नवंबर तक बंद रखा गया है। इसी बीच रविवार (03 नवंबर 2019) को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि सोशल मीडिया के जरिए छुट्टी की तारीख को लेकर गलत जानकारी फेलाई जा रही है। सिसोदिया ने लिखा कि, ‘सोशल मीडिया पर स्कूल और कॉलेज की छुट्टियों को लेकर फर्जी पत्र फेल रहा है, जिसमें 8 नवंबर तक छुट्टी होने की बात है। अभी 5 नवंबर तक ही स्कूल बंद रखने का आदेश है। इसके अलावा अधिक जानकारी या अपडेट के लिए चैनलों के जरिए सूचना दी जाएगी। सभी के लिए सलाह है कि इस तरह की फेक न्यूज और फर्जी लेटर पर विश्वास न करें।’

अधिकारियों ने रविवार को बताया कि आदेश 12वीं कक्षाओं तक के स्कूलों पर लागू होगा। गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद प्रशासन ने कहा कि यह फैसला दीपावाली के बाद से वातावरण में पीएम 10 और पीएम 2.5 के बढ़े स्तर और उसकी वजह से खराब हुई हवा की गुणवत्ता की वजह से लिया गया है। गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी बीएन सिंह ने लिखित आदेश में कहा, ‘बच्चों को स्कूल ले जाने में इस्तेमाल होने वाले वाहनों से बड़ी मात्रा में पीएम 2.5 और पीएम 10 का उत्सर्जन होता है और ऐसे वाहनों के परिचालन से हालात और खराब होंगे। इसलिए गौतमबुद्ध नगर जिले में 12वीं कक्षा तक के सभी स्कूलों को चार नवंबर और पांच नवंबर को भी बंद रखने का फैसला किया गया है।’

नई दिल्ली में रविवार को हवा की गुणवत्ता का स्तर गंभीर से भी अधिक पहुंच गया है। दिल्ली के बाद अब राजस्थान के कई हिस्सों में प्रदूषण का प्रभाव बढता जा रहा है और आकाश में बादलों के साथ साथ धुंध और धुआं नजर आ रहा है। ऐसे मे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र से स्थिति में सुधार के लिए तत्काल कदम उठाने के लिए कहा है, जिसमें दिल्ली सरकार पूरा समर्थन करेगी। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि, पूरे भारत में प्रदूषण असहनीय स्तर पर पहुंच गया है, दिल्ली में इससे निपटने के लिए सरकार हर संभव कदम उठा रही है।’

बता दें कि रविवार 10 बजकर 35 मिनट पर नोएडा में वायु गुणवत्ता सूचकांक 487 और ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता सूचकांक 470 रहा। दोनों ही इलाकों में यह ‘गंभीर’ श्रेणी में है जिससे लोगों की सेहत, खासतौर पर मरीजों की सेहत पर गंभीर असर पड़ेगा। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक रविवार दोपहर एक बजकर 35 मिनट पर गाजियाबाद के इंदिरापुरम में वायु गुणवत्ता सूचकांक 492 और राजनगर में 480 दर्ज किया गया। गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय की ओर से अधिकृत पैनल ने गंभीर हालात से निपटने के लिए शुक्रवार को दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में जन स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा करते हुए सभी निर्माण कार्यों और पटाखा जलाने पर रोक लगा दी थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यहां मिलेगा एनटीपीसी एडमिट कार्ड डाउनलोड करने का डायरेक्ट लिंक
2 Sarkari Naukri-Result 2019: सरकारी नौकरी चाहिए तो यहां कर सकते हैं ऑनलाइन अप्लाई
3 10+2 या 12वीं के बाद क्या करें? यहां जानिए कौन कौन से एंट्रेस एग्जाम दे सकते हैं आप