scorecardresearch

CUET UG Exam 2022: दो अभ्यर्थियों के समान नंबर आने पर 12वीं के अंकों से तय होगा सीट का निर्धारण, जानें क्या है फार्मूला

CUET UG Exam 2022: सीयूईटी यूजी 2022 पहले फेज की परीक्षा आज से शुरू हो गई है। परीक्षा के लिए 14 लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है।

CUET UG Exam 2022: दो अभ्यर्थियों के समान नंबर आने पर 12वीं के अंकों से तय होगा सीट का निर्धारण, जानें क्या है फार्मूला
CUET UG Exam 2022: पहले फेज की परीक्षा आज से शुरू हो रही है। (फोटो: freepik)

CUET UG Exam 2022: कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट, यूजी 2022 फेज 1 की परीक्षा आज से शुरू हो रही है। पहले फेज की परीक्षा में 8,10,000 परीक्षार्थी शामिल होंगे। सीयूईटी यूजी 2022 का समापन 10 अगस्त 2022 को होगा।

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के अनुसार दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) के कुलपति योगेश सिंह ने गुरुवार को कहा कि इस साल प्रवेश के दौरान एक ही सीट के लिए समान कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) स्कोर वाले छात्रों के मामले में 12वीं के अंकों को टाईब्रेकर फॉर्मूला माना जाएगा।

उन्होंने यह भी कहा कि विश्वविद्यालय यह सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त छात्रों को प्रवेश देगा कि पहले दौर की काउंसलिंग के दौरान अधिकतम सीटें भरी जाएं। उम्मीद जताई कि सीयूईटी का आयोजन अगले साल से वर्ष में दो बार किया जाएगा।

दो अभ्यर्थियों के समान नंबर होने पर ऐसे तय होगी सीट
डीयू वीसी ने कहा कि हमने तय किया है कि यदि दो छात्रों के सीयूईटी स्कोर के बीच टाई है, तो बारहवीं कक्षा के सर्वश्रेष्ठ तीन विषयों के अंकों को टाईब्रेकर के रूप में गिना जाएगा। अगर इतना ही है, तो हम चार सर्वश्रेष्ठ विषयों पर विचार करेंगे। अगर यह अभी भी बराबर रहता है, तो सर्वश्रेष्ठ पांच विषयों के स्कोर को गिना जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि स्कोर अभी भी बराबर रहता है, तो उम्र एक कारक बन जाएगी और पुराने आवेदक को वरीयता मिलेगी।

सिंह ने यह भी कहा कि ऐसा कोई विषय नहीं है, जिसे अनिवार्य रूप से बेस्ट ऑफ थ्री में गिना जाए। सर्वश्रेष्ठ-तीन या सर्वोत्तम-चार गणना में भाषा अनिवार्य नहीं है। उच्चतम स्कोर वाले किन्हीं तीन विषयों को इसमें गिना जा सकता है।

वीसी ने कहा कि डीयू नाम वापसी या बीच में पढ़ाई छोड़ने की स्थिति में सीटों की तुलना में अधिक छात्रों को प्रवेश देगा। हम पहले दौर की काउंसलिंग में सामान्य और ओबीसी श्रेणियों में 20 प्रतिशत और एससी / एसटी वर्ग में 30 प्रतिशत अतिरिक्त छात्रों को प्रवेश देंगे। हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि पहले दौर में ही ज्यादा से ज्यादा सीटें भर जाएं।

इस कदम का उद्देश्य विशेष रूप से अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति की सीटों को भरना है, जिनमें से कई खाली हैं। इन सीटों को भरने के लिए डीयू द्वारा हर साल विशेष अभियान चलाया जाता है।

साल में दो बार हो सीयूईटी का आयोजन
सिंह ने कहा कि उन्होंने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) और भारत सरकार से छात्रों के हित को ध्यान में रखते हुए अगले साल से वर्ष में दो बार सीयूईटी आयोजित करने का अनुरोध किया है। सिंह ने हालांकि स्पष्ट किया कि इसका मतलब यह नहीं है कि डीयू में साल में दो बार दाखिले होंगे। उन्होंने कहा कि ऐसा केवल इसलिए है ताकि छात्रों के पास अधिक मौके हों और हम बेहतर स्कोर पर विचार कर सकें, जिससे उन्हें मदद मिलेगी।

सिंह ने कहा कि डीयू सीयूईटी के परिणाम आने से पहले छात्रों के प्रश्नों का समाधान करेगा ताकि कोई भ्रम न हो। छात्रों को डीयू पोर्टल पर अपने कॉलेज और पाठ्यक्रम की वरीयताएं भरने का अवसर मिलेगा और उनके अंकों के आधार पर उन्हें उनकी पसंद के अनुसार कॉलेज आवंटित किए जाएंगे।

14 लाख से अधिक ने किया है आवेदन
CUET UG 2022 का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) की ओर से 15 जुलाई से 10 अगस्त तक किया जा रहा है। देश भर में लगभग 14.9 लाख अभ्यर्थियों ने परीक्षा के लिए आवेदन किया है। वहीं डीयू को 6.5 लाख से अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं। पिछले साल की तरह विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए 70,000 यूजी सीटों की पेशकश की जाएगी।

पढें एजुकेशन (Education News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 15-07-2022 at 08:53:40 am