ताज़ा खबर
 

Coronavirus Lockdown: नोएडा DM की बड़ी राहत, छात्रों को नहीं देनी कोई Fees, इन राज्य सरकारों ने भी लिया फैसला

Coronavirus Lockdown in India Latest News Update: आगे कहा गया कि, जो माता-पिता लॉकडाउन के दौरान फीस जमा नहीं कर सकते, उनके बच्चों की ऑनलाइन क्लासेस पर इसका कोई असर नहीं होना चाहिए।

Coronavirus Lockdown: जिला मजिस्ट्रेट के निर्देश से उन हजारों लोगों को राहत मिलेगी जो देश में कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण आए आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Coronavirus Lockdown in India: भारत में 21 दिन का लॉकडाउन है, जिसके चलते लगभग सभी शिक्षण संस्थान अगली सूचना तक बंद कर दिए हैं। ऐसे में छात्रों की शिक्षा और शिक्षा पर होने वाले खर्च पर दबाव अचानक बढ़ गया है लेकिन गौतमबुध नगर, नोएडा के डीएम ने छात्रों को बड़ी राहत दी है। रविवार, 05 अप्रैल 2020 को नोएडा के डीएम कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में, शहर के सभी स्कूलों और कॉलेजों को निर्देश दिया कि वे लॉकडाउन के दौरान अभिभावकों से फीस की मांग न करें। बयान में आगे कहा गया कि, जो माता-पिता लॉकडाउन के दौरान फीस जमा नहीं कर सकते, उनके बच्चों की ऑनलाइन क्लासेस पर इसका कोई असर नहीं होना चाहिए। जिला मजिस्ट्रेट के निर्देश से उन हजारों लोगों को राहत मिलेगी जो देश में कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण आए आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर मांगी थी मदद: 21 दिन की देशबंदी के दौरान कुछ छात्रों के माता-पिता ने सोशल मीडिया के जरिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और नोएडा डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट से फीस माफ करने की गुहार लगाई थी। प्रशासन ने इस अनुरोध पर विचार करने के बाद राहत देने का फैसला लिया है।

नोएडा DM ने पहले इनकी तरफ बढ़ाया था मदद का हाथ: ये पहली बार नहीं है कि जब नोएडा के लोगों के लिए प्रशासन ने हाथ बढ़ाया हो। इससे पहले, डीएम ने जिले के जमींदारों से कहा था कि वे अपने मासिक किराए का भुगतान करने के लिए किरायेदारों को मजबूर न करें और उनसे आग्रह करें कि यदि वे भुगतान करने में विफल रहते हैं तो उन्हें खाली करने के लिए न कहें। डीएम ने आगे मकान मालिकों को एक महीने के लिए किराए को स्थगित करने का आदेश दिया।

नोएडा समेत इन राज्यों में भी छात्रों की फीस माफ: 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान यूपी, नोएडा से पहले अन्य राज्यों में भी छात्रों को फीस माफ की राहत दी गई है। कुछ दिन पहले हिमाचल प्रदेश सरकार ने, मनोहर लाल खट्टर की हरियाणा सरकार और महाराष्ट्र में भी स्कूलों, इंस्टीट्यूशन्स द्वारा छात्रों से फीस की मांग पर रोक लगाई है।

बात दें कि, जानलेवा कोरोना वायरस COVID-19 ने दुनियाभर के देशों को अपनी जद में ले लिया है। रोज लोग इस वायरस के कारण अपनी जान गंवा रहे हैं। इस वैश्विक महामारी में अब तक 12,00,000 से अधिक संक्रमित मामले सामने आ चुके हैं, इनमें 64,000 से अधिक लोग जान गंवा चुके हैं। वहीं भारत में संक्रमित लोगों का आंकड़ा 3400 तक पहुंच गया है जिसमें से 78 लोगों की मौत हो गई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Sarkari Naukri: केवल 10वीं तक पढ़े हैं तो भी हैं सरकारी नौकरी के हकदार, यहां करें आवेदन
2 Bihar Board BSEB 10th Result 2020: बिहार बोर्ड 10वीं का रिजल्ट, यहां मिलेगा ऑनलाइन चेक करने का डायरेक्ट लिंक
3 लॉकडाउन में भेदभाव, स्कूलों ने शुरू किया ऑनलाइन क्लासेज, पर गरीब छात्रों की नहीं ली सुध, रह गए वंचित