ताज़ा खबर
 

Constitution Day 2019 (National Law Day in India 2019): बाबासाहेब की चेतावनी, संविधान में कब क्या हुआ और कितना लगा समय

Constitution Day 2019 (National Law Day India): भारतीय संविधान की स्वीकृति से एक दिन पहले 25 नवंबर 1949 को.. जब संविधान सभा अपनी कार्यवाही पूरी कर रही थी, तब बीआर आंबेडकर ने एक भाषण दिया था।

constitution day, constitution day 2019, constitution day quotes, constitution day images, constitution day quotes in hindi, constitution day speech, constitution day essay, constitution day information, constitution day history, constitution day news, happy constitution day, happy constitution day 2019, national law day, national law day 2019, national law day quotes, samvidhan divas, samvidhan divas images, samvidhan divas quotes, samvidhan divas in hindiयह हस्तलिखित संविधान है जिसमें 48 आर्टिकल हैं। इसे तैयार करने में 2 साल 11 महीने और 17 दिन का वक्त लगा था।

Constitution Day 2019 (National Law Day in India 2019): आज 26 नवंबर है। आज संविधान दिवस है। भारत के संविधान (Constitution of India) को अपनाए हुए आज 70 साल पूरे हो गए हैं।आज के दिन संविधान को बनाने वाले डॉ. भीमराव अंबेडकर को याद किया जाता है। आज ही के दिन 26 नवंबर 1949 को भारतीय संविधान सभा की तरफ से इसे अपनाया गया और 26 नवंबर 1950 को इसे लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया। यह दुनिया का सबसे बड़ा संविधान है। भारत के संविधान में 448 अनुच्छेद, 12 अनुसूचियां और 94 संशोधन शामिल हैं। यह हस्तलिखित संविधान है जिसमें 48 आर्टिकल हैं। इसे तैयार करने में 2 साल 11 महीने और 17 दिन का वक्त लगा था।

भारतीय संविधान की स्वीकृति से एक दिन पहले 25 नवंबर 1949 को.. जब संविधान सभा अपनी कार्यवाही पूरी कर रही थी, तब डॉ. बीआर आंबेडकर ने एक भाषण दिया था। इस भाषण के अंत में उन्होंने भविष्य के लिए तीन चेतावनी दी थी। संविधान सभा के 284 सदस्यों ने 24 जनवरी 1950 को दस्तावेज पर हस्ताक्षप किए । दो दिन बाद इसे लागू किया गया था।

Live Blog

Highlights

    15:17 (IST)26 Nov 2019
    संविधान दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री ने कही ये बात

    प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि संविधान की भावना "स्थिर" और "मजबूत" तब भी रही है, जब इसे नीचे लाने के प्रयास किए गए थे। भारत के 70 वें संविधान दिवस पर संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए, उन्होंने कहा कि सरकार ने संविधान के दायरे में सुधार करके "एक भारत" की ओर बढ़ने की कोशिश की है।

    14:49 (IST)26 Nov 2019
    कश्‍मीर में पहली बार मनाया जा रहा है संविधान दिवस

    जम्‍मू एंड कश्‍मीर पहली बार 26 नवंबर के दिन संविधान दिवस मना रहा है। संविधान के अनुच्‍छेद 370 के निष्‍प्रभावी होने के बाद जम्‍मू एंड कश्‍मीर का संविधान भी निष्‍प्रभावी हो गया है। इस कारण पहली बार यहां पूरे देश के साथ संविधान दिवस की 70वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है।

    14:22 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: दर्जनों भाषा-सैकड़ो विधि..

    दर्जनों भाषा, सैकड़ो विधि, हजारो विधान हैं, जो जोड़कर सबको साथ रखे, वो संविधान है।

    13:59 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: हर रंग खुद में समेटे....

    हर रंग खुद में समेटे, जो बेखौफ लड़ा है,जाति और धर्म के दायरे से जो आगे बढ़ा है, नौतिक, निष्पक्ष, तर्कसंगत संविधान ही है वो

    13:39 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: मेरा देश महान बना है...

    शहीदों के लहू की स्याही से, ये संविधान बना हैहर दिन संभाल के रखो, मेरा देश महान बना है।

    13:20 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: कब क्या-क्या हुआ

    26 नवंबर, 1949 को संविधान अंगीकृत किया गया था। 26 नवंबर, 2019 को देश 70वां संविधान दिवस मनाएगा। 11 अक्तूबर, 2015 को 26 नवंबर राष्ट्रीय संविधान दिवस घोषित हुआ। 1951 में पहला संशोधन अस्थायी संसद ने पारित किया था। 2019 में अंतिम 103वां संशोधन पारित हुआ। 103 संशोधन किए गए 70 साल में संविधान में। 99वें संविधान संशोधन को असंवैधानिक करार दिया है। 107 संविधान संशोधन विधेयक पारित किए राज्यसभा ने। 01 विधेयक लोकसभा ने अमान्य कर दिया। 106 संविधान संशोधन विधेयक पारित किए हैं लोकसभा ने। 03 विधेयकों को राज्यसभा ने अमान्य कर दिया।

    12:56 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: डॉ. राजेंद्र प्रसाद आखिर तक बने रहे संविधान सभा के अध्यक्ष

    11 दिसंबर 1946 को संविधान सभा की बैठक में डॉ. राजेंद्र प्रसाद को स्थायी अध्यक्ष चुना गया, जो अंत तक इस पद पर बने रहें। संविधान की धारा 74 (1) में यह व्‍यवस्‍था की गई है कि राष्‍ट्रपति की सहायता को मंत्रिपरिषद होगी जिसका प्रमुख पीएम होगा।

    12:40 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: ये थे संविधान सभा के प्रमुख सदस्य

    संविधान सभा के सदस्य भारत के राज्यों की सभाओं के निर्वाचित सदस्यों के द्वारा चुने गए थे। जवाहरलाल नेहरू, डॉ भीमराव अम्बेडकर, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद आदि इस सभा के प्रमुख सदस्य थे।

    12:28 (IST)26 Nov 2019
    करीब एक करोड़ रुपए का आया था खर्च

    संविधान सभा पर अनुमानित खर्च 1 करोड़ रुपये आया था। मसौदा लिखने वाली समिति ने संविधान हिंदी, अंग्रेजी में हाथ से लिखकर कैलिग्राफ किया था और इसमें कोई टाइपिंग या प्रिंटिंग शामिल नहीं थी।

    11:56 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: संविधान दिवस की बधाई

    11:43 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: पर स्वतंत्र भारत का निश्चय नही रुकेगा

    अमेरिका क्या संसार भले ही हो विरुद्धकश्मीर पर भारत का सर नहीं झुकेगाएक नहीं, दो नहीं, करो बीसों समझौतेपर स्वतंत्र भारत का निश्चय नही रुकेगा।

    11:24 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: कोई छोटा बड़ा नहीं होता

    8700727031 जिससे होता है बस हो ही जाता है, मियांसंविधान-ए-इश्क़ में कोई छोटा-बड़ा नहीं होता।

    11:03 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: और एक हिंदुस्तान

    एक प्रधान,एक विधान,एक निशान,एक संविधान औरएक हिंदुस्तान।

    10:50 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019 (National Law Day in India 2019) Live Updates: संविधान का महत्व

    एक राष्ट्र, समाज या समुदाय के जीवन में संविधान का क्या महत्व होता है। यह कैसे इंसान को सभ्य और संगठित तरीके से रहने में मदद करता है। संविधान या लिखित कानून न होने की स्थिति में किन समस्याओं का सामना करना पड़ता। संविधान की गरिमा को कैसे बनाए रखा जा सकता है।

    10:33 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: भारत का संविधान

    10:15 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: बाबासाहेब की ये थी तीसरी चेतावनी

    ये समानता के संबंध में थी। बीआर आंबेडकर ने कहा था कि '26 जनवरी 1950 को हम अंतर्विरोध के जीवन में प्रवेश करने जा रहे हैं। राजनीति में हमारे पास समानता होगी, लेकिन सामाजिक और आर्थिक जीवन में असमानता होगी। राजनीति में हम एक शख्स एक मत और एक मत एक मूल्य के सिद्धांत का अनुसरण करेंगे। लेकिन सामाजिक और आर्थिक संरचना में एक शख्स एक मूल्य को नकारेंगे।

    10:03 (IST)26 Nov 2019
    देश को शांति और युद्ध दोनों के समय जोड़ कर रख सके

    संविधान साध्य है,यह लचीला है पर साथ ही यह इतना मज़बूत भी है कि देश को शांति और युद्ध दोनों के समय जोड़ कर रख सके। अगर कभी कुछ गलत हुआ तो इसका कारण यह नही होगा कि हमारा संविधान खराब था बल्कि इसका उपयोग करने वाला मनुष्य अधम था।

    09:57 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: संविधान दिवस की बधाई

    09:51 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: ऐसा हमारा संविधान है

    दर्जनों भाषा, सैंकड़ो विधि, हज़ारो विधान है।जो जोड़कर सबको साथ रखे, वो भारत का संविधान है।

    09:44 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019: बाबासाहेब की ये थी दूसरी चेतावनी

    यह भक्ति के संबंध में थी। उन्होंने कहा था कि 'कोई महान व्यक्ति जिसने देश के लिए अपना जीवन समर्पित किया हो, देश की लंबे समय तक सेवा की हो, उसका आभारी होने में कुछ गलत नहीं है। लेकिन आभार की भी सीमा होती है।'

    09:38 (IST)26 Nov 2019
    यह सिर्फ वकीलों का एक दस्तावेज नहीं...

    09:32 (IST)26 Nov 2019
    जहां संवैधानिक तरीके मौजूद वहां असंवैधानिकता की जरूरत नहीं

    पहली चेतावनी में उन्होंने कहा था कि जहां सामाजिक और आर्थिक उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए सांवैधानिक तरीके मौजूद हों, वहां असंवैधानिक तरीकों की जरूरत नहीं। ये तरीके सिर्फ अराजकता के व्याकरण हैं और जितनी जल्दी हम इन्हें छोड़ दें, हमारे लिए उतना ही बेहतर होगा।

    09:26 (IST)26 Nov 2019
    Constitution Day 2019 Live Updates: बाबासाहेब की ये थी पहली चेतावनी

    यह लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन के संबंध में थी। उन्होंने कहा था कि 'अगर हमें सिर्फ नियम के लिए नहीं, वास्तविकता में लोकतंत्र को बनाए रखना है, तो हमें विरोध के सभी तरीके छोड़ने होंगे। फिर चाहे वो सविनय अवज्ञा, असहयोग या सत्याग्रह के ही तरीके क्यों न हों।'

    Next Stories
    1 RRB NTPC Admit Card 2019: आरआरबी एनटीपीसी CBT 1 परीक्षा, यहां से डाउनलोड कर पाएंगे एडमिट कार्ड
    2 DMRC Recruitment 2019: मेट्रो में निकलीं 62 साल तक के लोगों के लिए नौकरी, सैलरी 1,00,000 रुपए महीने तक
    3 Sarkari Naukri 2019: जानें कहां-कहां चल रही है सरकारी भर्ती और कैसे करें ऑनलाइन अप्लाई
    यह पढ़ा क्या?
    X