ताज़ा खबर
 

CBSE NEET Result 2017: 12 जून तक टला परीक्षा रिजल्ट, पढ़िए- क्या है लेटेस्ट अपडेट

NEET Result 2017: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) परीक्षा के नतीजे टाल दिए हैं, जो कि 8 जून को घोषित किए जाने थे।

NEET Result 2017: बोर्ड ने 7 मई को इस परीक्षा का आयोजन किया था।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) परीक्षा के नतीजे टाल दिए हैं, जो कि 8 जून को घोषित किए जाने थे। हाल ही में मद्रास हाईकोर्ट ने परीक्षा परिणाम पर स्टे लगा दिया था और बोर्ड का कहना है कि वह हाईकोर्ट की ओर से लगाए गए स्टे का पालन करेगा। बोर्ड ने 12 जून तक परिणाम घोषित होने पर रोक लगाई है। साथ ही सीबीएसई ने ये भी साफ कर दिया है कि वह फिलहाल सुप्रीम कोर्ट नहीं जाएगी। बता दें कि इससे पहले एक याचिका पर सुनवाई करके हुए मद्रास हाईकोर्ट ने 7 जून तक रिजल्ट पर रोक लगाई थी और अगले फैसले तक नतीजे जारी करने पर रोक लगाई थी और बोर्ड को जवाब देने के लिए कहा था। बोर्ड ने 7 मई को इस परीक्षा का आयोजन किया था।

वहीं सीबीएसई की ओर से कोर्ट में कहा गया है कि उनको परीक्षा का तरीका एक रखना है और प्रश्नपत्र अलग रखने की कोई पाबंदी नहीं है। साथ ही दोनों ही पेपर मॉडरेटरों ने तय करके एक ही डिफिकल्टी लेवल का निकाला था। बोर्ड ने इस बात से भी इंकार कर दिया कि गुजराती भाषा के पेपर अंग्रेजी भाषा के पेपर से आसान थे। दरअसल अलग अलग भाषाओं में पेपर की डिफिकल्टी पर सवाल उठाए गए थे। बता दें कि सिर्फ 9.25 प्रतिशत छात्रों ने ही स्थानीय भाषा में परीक्षा दी थी। कई याचिकाकर्ताओं का कहना है कि तमिल भाषा का पेपर भी अंग्रेजी से आसान था। कोर्ट में सीबीएसई ने ये आश्वासन दिया कि मद्रास हाईकोर्ट की मदुरई बेंच में तमिल भाषा में ऐसे ही प्रश्न के मामले की सुनवाई चल रही है और 12 जून तक परिणाम पर रोक है, जिसका वो पालन करेंगे।

गौरतलब है कि देशभर के मेडिकल, डेंटल, आयुष और वेटरिनेरी कॉलेजों में एडमिशन के लिए नीट परीक्षा का आयोजन किया जाता है। सीबीएसई ने देशभर के करीब 104 शहरों में 7 मई को परीक्षा का आयोजन किया था। नीट 2016 के 8,02,594 पंजीकृत उम्मीदवारों की अपेक्षा इस बार यानी 2017 में 41.42% ज्यादा उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। इस बार करीब 11 लाख उम्मीदवारों ने इस परीक्षा में भाग लिया था। इस बार सीबीएसई ने कदाचार मुक्त परीक्षा के लिए इस बार कड़े नियम बनाए थे, जिसमें ड्रेस कोड, पेन, पेंसिल को लेकर कई नियम शामिल थे। बोर्ड ने करीब 95 हजार सीटों पर दाखिले के लिए इस परीक्षा का आयोजन किया था, जिसमें 6500 एमबीबीएस और 25000 बीडीएस सीट शामिल है। इसके माध्यम से सरकारी और निजी विश्वविद्यालयों में उम्मीदवारों को दाखिला दिया जाएगा।

सलमान खान ने लांच की 25 किलोमीटर प्रति घंटे से चलने वाली साइकिल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App