ताज़ा खबर
 

CBSE Syllabus: सीबीएसई ने 9वीं और 11वीं कक्षा के पाठ्यक्रम में किए ये बदलाव

CBSE Board Syllabus Class 9 and 11: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) आगामी सत्र 2018-19 से कुछ विषयों को कोर्स से हटाने जा रहा है। बोर्ड ने अपने आधिकारिक वेब-पोर्टल पर नोटिफिकेशन जारी कर इसकी घोषणा की है।

CBSE Board Syllabus Class 9 and 11: सीबीएसई एफिलेटिड स्कूल्स को सेशन 2018-19 से छात्रों को हटाए गए विषयों का विकल्प नहीं देने को कहा है।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) आगामी सत्र 2018-19 से कुछ विषयों को कोर्स से हटाने जा रहा है। बोर्ड ने अपने आधिकारिक वेब-पोर्टल पर नोटिफिकेशन जारी कर इसकी घोषणा की है। नोटिफिकेशन में सभी सीबीएसई एफिलेटिड स्कूल्स को सेशन 2018-19 से छात्रों को इन विषयों का विकल्प नहीं देने को कहा है। यह बदलाव नौवीं और ग्यारहवीं कक्षा के छात्रों के कोर्स में किए गए हैं। बोर्ड ने कक्षा 9वीं से इंग्लिश कम्यूनिकेटिव, इंफॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी और ई-पब्लिशिंग एंड ई-ऑफिस विषयों को हटाने को कहा है। वहीं 11वीं कक्षा से डांस- मोहिनीअट्टम, मल्टीमीडिया एंड वेब टेक्नॉलोजी और इंग्लिश इलेक्टिव-CBSE विषयों को बंद करने का फैसला लिया गया है।

हालांकि नौवीं और ग्याराहवीं के जो छात्र अभी हटाए गए विषयों की पढ़ाई कर रहे हैं, वे सेशन 2018-19 में कक्षा 10वीं और 12वीं में इनकी पढ़ाई जारी रख सकेंगे। इसके अलावा नोटिफिकेशन में पुराने विषयों को हटाने के साथ ही आगामी सत्र से ग्यारहवीं कक्षा के छात्रों के लिए तीन नए वोकेशनल इलेक्टिव विषय शुरू करने की भी जानकारी दी है। आगामी सत्र से एग्रीक्लचर, फैशन स्टडीज और मास-मीडिया स्टडीज विषयों को शामिल किया जाएगा। साथ ही संस्कृत कम्युनिकेटिव विषय को संस्कृत से बदला गया है और फाउंडेशन ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नॉलोजी का नाम बदलकर कंप्यूटर एप्लिकेशन्स कर दिया गया है।

CBSE Paper Leak 2018: सीबीएसई 12वीं बोर्ड का अकाउंटेंसी पेपर लीक

इस साल कम्प्यूटर साइन्स के दो विषय ऑफर किए जाएंगे। कम्प्यूटर साइन्स (पुराना) और कम्प्यूटर साइन्स (नया)। स्कूल्स छात्रों को दोनों विषयों में से कोई एक चुनने का ऑफर दे सकते हैं। कम्प्यूटर साइन्स विषय ऑफर करने वाले स्कूल्स को नोटिफिकेशन में सलाह दी गई है कि वे नए पाठ्यक्रम को सही से जान और अपने शिक्षकों को पढ़ाने के लिए तैयार करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App