CBSE Board Class 10th, 12th Exam will be conduct on Same Date in Two Shifts from this Year: Check them here - Jansatta
ताज़ा खबर
 

एक ही दिन हो सकती है CBSE 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाएं!

CBSE Board Exam: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अब कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाओं को दो पारियों में करवाने पर विचार कर रहा है। हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार बोर्ड अब एक दिन में दो परीक्षा का आयोजन करने की योजना बना रहा है।

बता दें कि यह प्लान नई दिल्ली की टॉप स्कूलों के प्रिंसिपल से मुलाकात करने के बाद बनाया गया है।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अब कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाओं को दो पारियों में करवाने पर विचार कर रहा है। हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार बोर्ड अब एक दिन में दो परीक्षा का आयोजन करने की योजना बना रहा है। खबर के मुताबिक इससे बोर्ड का समय बचेगा और कम समय में परीक्षा का आयोजन कर लिया जाएगा। साथ ही परीक्षा के जल्द आयोजन से अध्यापकों को पेपर चेक करने का ज्यादा वक्त मिलेगा। बता दें कि यह प्लान नई दिल्ली की टॉप स्कूलों के प्रिंसिपल से मुलाकात करने के बाद बनाया गया है। हालांकि सीबीएसई इस प्रस्ताव की समीक्षा करेगी और उसके बाद आखिरी फैसला लिया जाएगा। सीबीएसई से 18000 संस्थान जुड़े हुए हैं और बोर्ड हर साल मार्च में इन दो बड़ी परीक्षाओं का आयोजन करता है।

बता दें कि अलग अलग टाइम-टेबल होने और अधिक सब्जेक्ट होने की वजह परीक्षा का आयोजन 45 दिन तक होता है। नए प्लान के अनुसार एक ही दिन में दोनों कक्षाओं की परीक्षा करवाने से परीक्षा समय में बचत की जा सकती है। बताया जा रहा है कि इस प्लान के लागू होने के बाद 12वीं की परीक्षा सुबह और 10वीं की परीक्षा शाम को करवाई जा सकती है। बता दें कि सीबीएसई बोर्ड के माध्यम से लाखों उम्मीदवार परीक्षा में भाग लेते हैं। सीबीएसई के अनुसार इस नई नीति से स्कूल टीचर्स को कॉपियां चैक करने में अधिक समय मिलेगा जिससे तय समय में मई माह में ही परिणाम घोषित करने में आसानी होगी। इस बार करीब 10 लाख छात्रों ने 12वीं की परीक्षाएं दी थी।

उड़ान योजना-
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) केंद्रीय विद्यालयों, नवोदय विद्यालयों और अन्य सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाली छात्राओं को इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए तैयार करने के उद्देश्य से ‘उड़ान’ योजना चलाता है। ‘उड़ान’ के लिए आॅनलाइन आवेदन 18 जुलाई से शुरू होंगे और इसकी अंतिम तिथि 31 जुलाई है। यह योजना केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआडी) मंत्रालय की देखरेख में चलती है। इस योजना के माध्यम से छात्राओं की स्कूली शिक्षा और इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा के लिए पढ़ाई के अंतर को कम किया जाता है।

अवार्ड ना जीतने पर सुशांत ने उड़ाया आइफा का मज़ाक , हुए ट्विटर पर ट्रोल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App