ताज़ा खबर
 

BSEB 10th result 2018: लटक सकते हैं बिहार बोर्ड 10वीं परीक्षा के नतीजे!

BSEB, Bihar Board 10th Result 2018 Date and Time: बिहार 10वीं बोर्ड परीक्षा के नतीजे 20 जून, 2018 को जारी होने थे लेकिन अब रिजल्ट्स अटकने की आशंका है। 10वीं बोर्ड की 42 हजार से अधिक उत्तरपुस्तिकाएं गायब हो गई हैं।

BSEB, Bihar Board 10th Result 2018 Date and Time: प्रिंसिपल के अलावा पुलिस ने स्कूल के नाइट गार्ड और एक अधिकारी को भी गिरफ्तार कर लिया है।

बिहार 10वीं की बोर्ड परीक्षा के नतीजे 20 जून, 2018 को जारी होने थे लेकिन अब रिजल्ट्स के अटकने की आशंका है। नतीजे जारी होने से एक दिन पहले ही 42,705 उत्तरपुस्तिकाओं के गायब होने का मामला गरमा गया है। 10वीं बोर्ड की 42 हजार से अधिक उत्तरपुस्तिकाएं गायब हो गई हैं। इसी के चलते कयास लगाए जा रहे हैं कि नतीजे 20 जून को न जारी किए जाएं। हालांकि रिजल्ट्स की घोषणा के समय को लेकर आधिकारिक तौर पर कोई अपडेट अभी तक जारी नहीं किया गया है। ऐसी स्थिति में स्टूडेंट्स के लिए जरूरी है कि वे ऑफिशयल वेबसाइट www.biharboard.ac.in को नियमित चेक करते रहें। उत्तरपुस्तिकाएं गायब होने का मामला गोपालगंज के एक सरकारी स्कूल, एस एस बालिका इंटर कॉलेज का है। यहां से कॉपियां गायब होने के बाद शिकायत मिलने पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और प्रिंसिपल समेत कुल 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तारियों-छापेमारी का सिलसिला जारी है। लाइव हिंदुस्तान डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, गोपालगंज के प्रिंसिपल प्रमोद कुमार को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के कार्यालय में बुलाकर पूछताछ की गई है। पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। प्रिंसिपल के अलावा पुलिस ने स्कूल के नाइट गार्ड और एक अधिकारी को भी गिरफ्तार कर लिया है। गार्ड का नाम आस पूजन सिंह और अधिकारी का नाम छत्तू सिंह बताया जा रहा है। मामले में 17 जून को नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। एस एस बालिका इंटर कॉलेज से कॉपियों के 213 बैग गायब हुए हैं। एक बैग में दो सौ कॉपियां रखी जातीं हैं। कुल गायब हुईं कॉपियों की संख्या 42,705 है।

गौरतलब है इस वर्ष 17 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों ने 10वीं की परीक्षाएं दी थी। एग्जाम 21 फरवरी से 29 फरवरी के बीच राज्य के 1,426 केंद्रों पर हुए थे। पिछले वर्ष बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा में 50 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए थे। यानी सिर्फ आधे स्टूडेंट्स ही पास हो पाए थे। BSEB ने मामले की गंभीरता को देखते हुए टॉप 25 स्टूडेंट्स की कॉपियों को दोबारा जांच की है। इसके अलावा एक समिति ने राज्य के विभिन्न जिलों से टॉपर विद्यार्थियों को बुलाकर उनका वेरिफिकेशन भी किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App