X

BPSC 63rd PT Result 2018: लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा के परिणाम घोषित, मेन्‍स के लिए 4257 उम्‍मीदवार सफल

BPSC 63 PT Pre Result 2018: बिहार लोक सेवा आयोग ने 63वीं प्रारंभिक परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए हैं। इस परीक्षा में सामान्य वर्ग का कट ऑफ 96 है।

BPSC 63rd PT Result 2018: बिहार लोक सेवा आयोग ने 63वीं प्रारंभिक परीक्षा के नतीजे घोषित कर दिए हैं। इस परीक्षा में कुल 4257 परीक्षार्थी सफल हुए हैं। इन सफल परीक्षार्थियों को मेंस परीक्षा शामिल होने का मौका मिलेगा। मेंस में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों से अगले सप्ताह में आवेदन लिया जा सकता है। बता दें कि प्रारंभिक परीक्षा 1 जुलाई 2018 को आयोजित की गई थी। इसमें कुल 90,697 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिनमें 4257 सफल हुए। सामान्य श्रेणी के कुल 1872, पिछड़ा वर्ग के 369, पिछड़े वर्ग की महिला के 175, अत्यंत पिछड़ा वर्ग के 936, अनुसूचित जाति के 682, अनुसूचित जनजाति के 29 और निशक्त वर्ग के 116 परीक्षार्थियों ने सफलता हासिल की।

इस बार सामान्य श्रेणी के लिए कट ऑफ मार्क्स 96, सामान्य श्रेणी की महिला के लिए 86, पिछड़ा वर्ग पुरूष के लिए 93, पिछड़ा वर्ग महिला के लिए 84, अत्यंत पिछड़ा वर्ग पुरूष के लिए 88, अत्यंत पिछड़ा वर्ग महिला के लिए 77, अनुसूचित जाति पुरूष के लिए 84, अनुसूचित जाति महिला के लिए 73, अनुसूचित जनजाति पुरूष के लिए 89, अनुसूचित जनजाति महिला के लिए 78, दृष्टि बाधित निशक्त के लिए 74, मूक बाधिर निशक्त के लिए 72, अस्थि बाधित निशक्त के लिए 83 और भूतपूर्व स्वतंत्रताा सेनानी परिवार के लिए 81 रहा।

बीपीएससी के परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि प्रारंभिक परीक्षा में शामिल अभ्यर्थी रिजल्ट देखने के लिए BPSC की वेबसाइइट https://bpsc.bih.nic.in पर क्लिक कर सकते हैं। इस बार प्रत्येक श्रेणी के महिला और पुरूष अभ्यर्थी का कटऑफ अलग-अलग जारी किया गया है। इस बार समय पर रिजल्ट आने से परीक्षा कैलेंडर भी अपडेट हो गया है। सफल उम्मीदवारों के लिए मुख्य परीक्षा का अायोजन नवंबर या दिसंबर में किया जा सकता है।

इस साल बीपीएससी की परीक्षा पास करने वाले अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्रों को 50 हजार रुपये भी दिए जाएंगे, ताकि मेंस परीक्षा की तैयारी में उन्हें किसी तरह की परेशानी न हो। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह फैसला लिया गया था। फैसले के बाद तत्कालीन मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने कहा था कि आर्थिक रूप से सक्षम नहीं होने की वजह से इस समुदाय के कई मेधावी छात्र पीटी परीक्षा पास करने के बाद मेंस की तैयारी सही से नहीं कर पाते। इसलिए उन्हें यह प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

  • Tags: BPSC,