ताज़ा खबर
 

Board Exam Results 2019: जानिये किस बोर्ड में हैं कितने पासिंग मार्क्‍स

Board Exam 2019: बोर्ड परीक्षा में पास होने के लिए अलग अलग शिक्षा बोर्ड में अलग अलग न्‍यूनतम अंक निर्धारित हैं।

Author Updated: April 5, 2019 10:59 AM
कक्षा 10 और कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा उत्तीर्ण करना कई प्रतियोगी परीक्षाओं और यहां तक ​​कि सरकारी नौकरियों के लिए भी एक आवश्यकता है।

दौर है बोर्ड परीक्षाओं का और ये समय है जब छात्र खुद को बेहद दबाव में महसूस करते हैं। कक्षा 10 और कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा उत्तीर्ण करना कई प्रतियोगी परीक्षाओं और यहां तक ​​कि सरकारी नौकरियों के लिए भी एक आवश्यक है। बोर्ड परीक्षा में पास होने के लिए अलग अलग शिक्षा बोर्ड में अलग अलग न्‍यूनतम अंक निर्धारित हैं। प्रत्‍येक बोर्ड में पासिंग मार्क्‍स इस प्रकार हैं।

CBSE: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने केवल कक्षा 10 और कक्षा 12 के लिए 35 प्रतिशत से पास प्रतिशत को घटाकर 33 प्रतिशत नहीं किया है, यह भी घोषणा की है कि किसी छात्र को कंपार्टमेंट परीक्षा में तीन बार उपस्थित होने की अनुमति दी जाएगी। छात्रों को थ्योरी में 33 प्रतिशत और प्रैक्टिकल्‍स में अलग से 33 प्रतिशत अंक प्राप्त करने होंगे। परिणाम आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in पर उपलब्ध होंगे।

BSEB: बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड (BSEB) या बिहार बोर्ड ने पिछले साल ग्रेस मार्क्स पॉलिसी लागू की थी, जिसके तहत, यदि कोई छात्र केवल एक विषय में 8 प्रतिशत से कम अंको से फेल होता है या दो विषयों में 4-4 प्रतिशत अंको से फेल होता है तो उसे वह अंक ग्रेस मार्क्स के रूप में दे दिये जाएंगे। उत्तीर्ण होने के लिए, छात्रों को प्रत्येक विषय के थ्‍योरी सेक्‍शन में 30 प्रतिशत और प्रैक्टिकल्‍स में 40 प्रतिशत अंक प्राप्‍त करने होंगे। उम्मीदवार indiaresult.com या biharboard.online पर परिणाम देख सकते हैं।

ICSE: काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (CISCE) ने शैक्षणिक सत्र 2018-19 से कक्षा 10 और कक्षा 12 के छात्रों के लिए उत्तीर्ण अंक कम कर दिए थे। परीक्षा को पास करने के लिए छात्र को 35 के बजाय 33 और आईएसएस परीक्षा के लिए 40 के बजाय 35 प्रतिशत की आवश्यकता होगी। परिणाम cisce.org पर उपलब्ध होंगे।

MPBSE: मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (MPBSE) में कम से कम 33 प्रतिशत अंकों के के साथ छात्र पास माने जाते हैं। छात्र आधिकारिक वेबसाइट mpbse.nic.in पर परिणाम देख सकते हैं।

KSEEB: कर्नाटक माध्यमिक शिक्षा परीक्षा बोर्ड (KSEEB) ने भी प्रत्येक विषय में अपने उत्तीर्ण अंकों को 35 प्रतिशत से घटाकर 30 प्रतिशत कर दिया है। उम्मीदवार अपना परिणाम karresults.nic.in या indiaresults.com पर देख सकते हैं।

MSBSHSE: महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (MSBSHSE) या महाराष्ट्र बोर्ड ने 2014 में HSC और SSC परीक्षा के छात्रों के उत्तीर्ण प्रतिशत में थोड़ा बदलाव किया था। छात्रों को कुल अंकों में उत्तीर्ण होने के लिए 35 प्रतिशत अंक लाने अनिवार्य हैं जबकि केवल थ्योरी परीक्षा में आवश्यक न्यूनतम अंक 20 प्रतिशत हैं। स्टूडेंट्स mahahsscboard.maharashtra.gov.in पर रिजल्ट चेक कर सकते हैं।

PSEB: पंजाब राज्य शिक्षा बोर्ड (PSEB) ने शैक्षणिक वर्ष 2018-19 के लिए मार्च 2019 में आयोजित परीक्षा के लिए ‘पास फॉर्मूलों’ में किसी भी बदलाव की रिपोर्ट से इनकार कर दिया है। यह अनुमान लगाया जा रहा था कि बोर्ड छात्रों को ग्रेस अंक नहीं देगा लेकिन बोर्ड ने स्पष्ट किया है कि अभी कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है। परिणाम indiaresult.com और pseb.ac.in पर उपलब्ध होंगे।

Kerala Board: केरल बोर्ड ऑफ पब्लिक एग्जामिनेशन ने SSLC, PUC परीक्षा को क्लियर करने के लिए छात्रों के लिए न्यूनतम मापदंड के रूप में 30 प्रतिशत अंक रखे हैं। छात्रों को थ्योरी, प्रैक्टिकल, क्लास परफॉर्मेंस इत्यादि सहित सभी पहलुओं में कुल मिलाकर अलग से 30 प्रतिशत स्कोर करने की आवश्यकता होती है। एसएसएलसी पेपर में डी+ ग्रेड (30 से 39 प्रतिशत) अंक लाने वाले छात्र सेव-ए-ईयर( SAY) की परीक्षा दे सकते हैं। रिजल्ट चेक करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट kbpe.org है।

GSHSEB: गुजरात माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (GSHSEB) gseb.org पर परिणाम घोषित करता है। परीक्षा पास करने के लिए न्यूनतम अंक 33 फीसदी निर्धारित हैं।

MBSE: मिज़ोरम बोर्ड ऑफ़ स्कूल एजुकेशन (MBSE) ने indiaresult.com और mbse.bu.in पर परिणाम घोषित किए। मिजोरम बोर्ड की कक्षा 10 और कक्षा 12 के लिए न्यूनतम उत्तीर्ण अंक 33 प्रतिशत हैं। थ्योरी और प्रैक्टिकल वाले विषयों में, उम्मीदवारों को प्रत्येक परीक्षा में 33 प्रतिशत अंक प्राप्त करने होते हैं।

BSE Odisha: प्रत्येक विषय में न्यूनतम 30 फीसदी अंक हासिल करने वाले छात्रों को माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (बीएसई), ओडिशा द्वारा उत्तीर्ण माना जाता है। परिणाम bseodisha.nic.in पर घोषित किए गए हैं।

WBBSE: पश्चिम बंगाल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (WBBSE) परिणाम wbbse.org पर घोषित करता है। दसवीं और बार‍हवीं दोनों पररीक्षाओं के लिए पासिंग मार्क्‍स 30 प्रतिशत निर्धारित हैं।

Tamilnadu Board: 10वीं की परीक्षा के लिए उत्तीर्ण अंक 35 प्रतिशत और कक्षा 12 परीक्षा के लिए उत्तीर्ण अंक 40 प्रतिशत हैं। उम्मीदवार अपना परिणाम स्कूल शिक्षा विभाग, तमिलनाडु सरकार की वेबसाइट tn.gov.in पर देख सकते हैं।

BSEH: बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन हरियाणा (BSEH) bseh.org.in और indiaresults.com पर परिणाम घोषित करता है। परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए कुल अंकों में कम से कम 33 प्रतिशत अंक लाने होते हैं और स्कूल द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रैक्टिकल में भी 33 प्रतिशत अलग से।

GBSHSE: गोवा बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एंड हायर एजुकेशन (GBSHSE) आधिकारिक वेबसाइट, gbshse.org और examresults.net पर परिणाम घोषित करता है। अभ्यर्थी को कुल मिलाकर न्यूनतम 33 प्रतिशत अंक प्राप्त करने होते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 CBSE CTET 2019: एप्लिकेशन करेक्‍शन की तारीख बढ़ी, असम और बिहार में जुड़े और परीक्षा केन्‍द्र
2 CSIR UGC NET Dec 2018 Result: परिणाम घोषित, जानें JRF के लिए कितने हुए सिलेक्‍ट
3 दो साल में ही गंवा दिए थे पैर, पर नहीं रुके कामयाबी भरे कदम: इग्नू में जीता गोल्‍ड
जस्‍ट नाउ
X