BCCI देगी क्रिकेटर्स को फुलप्रूफ सुरक्षा तो राजनाथ ने अर्धसैनिक बलों की तैनाती का दिया आश्वासन - Jansatta
ताज़ा खबर
 

BCCI देगी क्रिकेटर्स को फुलप्रूफ सुरक्षा तो राजनाथ ने अर्धसैनिक बलों की तैनाती का दिया आश्वासन

पाकिस्तान की टी20 विश्व कप में भागीदारी को लेकर अब भी अनिश्चितता बनी हुई है क्योंकि उसकी सरकार ने शुक्रवार को भारत में स्थिति का जायजा लेने के लिए सुरक्षा दल भेजने का फैसला किया है।

Author इस्लामाबाद/नई दिल्ली/धर्मशाला | March 4, 2016 11:30 PM
(File Photo)

पाकिस्तान की टी20 विश्व कप में भागीदारी को लेकर अब भी अनिश्चितता बनी हुई है क्योंकि उसकी सरकार ने शुक्रवार को भारत में स्थिति का जायजा लेने के लिए सुरक्षा दल भेजने का फैसला किया है। इससे गतिरोध के शीघ्र समाधान में आगे भी देरी होगी। पाकिस्तान सरकार ने आठ मार्च से तीन अप्रैल के बीच होने वाले टूर्नामेंट के लिए अपनी टीम को भाग लेने की इजाजत दे दी थी लेकिन अब वह अपने सुरक्षा दल के रिपोर्ट सैंपने के बाद ही इस दौरे पर अंतिम फैसला करेगा।

उधर, बीसीसीआइ ने अपनी तरफ से मेहमान टीम को फुलप्रूफ सुरक्षा मुहैया कराने का भरोसा दिलाते हुए गेंद पाकिस्तान के पासे में डाल दी है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी कहा है कि जरूरत पड़ने पर सरकार केंद्रीय अर्धसैनिक बल मुहैया कराने को तैयार है।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष शहरयार खान ने कराची में कहा कि देश के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अपने गृह मंत्री चौधरी निसार अली को पाकिस्तानी टीम को दी जाने वाली सुरक्षा का जायजा लेने के लिए भारत में सुरक्षा दल भेजने के निर्देश दिए हैं। शहरयार ने कहा कि अब स्थिति यह है कि इस सुरक्षा दल की हरी झंडी मिलने के बाद हम भारत में अपनी टीम भेज सकते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने हमें टी20 विश्व कप में खेलने की इजाजत दे दी थी लेकिन धर्मशाला में भारत और पाकिस्तान के बीच मैच को लेकर सुरक्षा चिंताओं के बाबत प्रधानमंत्री को एक रिपोर्ट सौंपी गई है।

प्रधानमंत्री सचिवालय से जारी बयान में भी कहा गया है कि पाकिस्तान की विश्व टी20 में भागीदारी सुरक्षा दल की रिपोर्ट पर निर्भर करेगी। शरीफ को निसार अली खान ने इस्लामाबाद में शुक्रवार को हुई बैठक में पूरी जानकारी दी जिसमें उन्होंने साफ किया कि पाकिस्तानी टीम के लिए नई दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के समन्वय से आयोजकों द्वारा फुलपू्रफ सुरक्षा गारंटी मिलनी चाहिए। प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान में बोर्ड से एशिया कप टी20 में टीम के लचर प्रदर्शन पर भी रिपोर्ट मांगी गई है। शहरयार ने कहा कि गृह मंत्री ने भारत में पाकिस्तान टीम के सुरक्षा मसले को लेकर चिंता जताई है।

बीसीसीआइ ने टी20 विश्व कप के दौरान पाकिस्तानी टीम को फुलप्रूफ सुरक्षा देने का आश्वासन दिया है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने गुरुवार को सुरक्षा कारणों से टूर्नामेंट से नाम वापस लेने की धमकी दी थी। पीसीबी की ओर से बीसीसीआइ और भारत सरकार से लिखित आश्वासन मांगे जाने के बारे में पूछने पर बोर्ड के सीनियर अधिकारी और आइपीएल अध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा कि आठ मार्च से शुरू हो रहे टूर्नामेंट में पाकिस्तान समेत सभी टीमों को फुलप्रूफ सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी।

शुक्ला ने कहा कि जहां तक बीसीसीआइ का सवाल है, पाकिस्तान को फुलप्रूफ सुरक्षा दी जाएगी। उन्हें सुरक्षा इंतजामात को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। अब फैसला पीसीबी को लेना है कि वे आना चाहते हैं या नहीं। वे आइसीसी के प्रति जवाबदेह हैं। पीसीबी द्वारा भारत सरकार से लिखित आश्वासन मांगे जाने के बारे में शुक्ला ने कहा कि हम सरकार की ओर से कैसे बोल सकते हैं।
बीसीसीआइ सचिव और भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर ने गुरुवार को हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से मुलाकात के बाद कहा था कि उन्हें मैच धर्मशाला में होने की उम्मीद है। शुक्ला ने कहा कि मैंने हिमाचल के मुख्यमंत्री से बात की है और उन्होंने सभी जरूरी इंतजाम करने का वादा किया है।

पूर्व सैनिकों के विरोध के बारे में उन्होंने कहा कि हमारी सहानुभूति उनके साथ है और यही वजह है कि पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय मैचों पर हमने कोई फैसला नहीं लिया है लेकिन यह विश्व कप है। अब वेन्यू बदलना भी आसान नहीं होगा। इस बीच, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 19 मार्च को होने वाले मैच की सुरक्षा के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बलों तैनात किया जाएगा। उन्होंने यहां कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार अगर सुरक्षाबलों की मांग करती है तो हम देंगे।

भारत और पाकिस्तान के बीच 19 मार्च को धर्मशाला में होने वाले मैच पर अनिश्चितता के बादल मंडरा रहे हैं चूंकि हिमाचल के पूर्व सैनिक जनवरी में पठानकोट पर हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर इस मैच का विरोध कर रहे है। हिमाचल के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने मंगलवार को गृह मंत्री को पत्र लिखकर कहा था कि उनकी सरकार इस मैच की सुरक्षा की व्यवस्था नहीं कर सकती।

इस बीच, पाकिस्तानी क्रिकेट टीम को 19 मार्च को धर्मशाला में खेलने की इजाजत नहीं देने की मांग करते हुए आतंकवाद निरोधक मोर्चा ने पिच खोदने की धमकी दी है। भारतीय आतंकवाद निरोधक मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र शांडिल्य ने धर्मशाला में कहा कि यदि पाकिस्तानी टीम धर्मशाला आती है तो हम एचपीसीए स्टेडियम की पिच खोद देंगे। उन्होंने कहा कि इसका बहुत बड़ा खतरा है कि मैच के दौरान पाकिस्तानी आतंकवादी इस क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं और यदि हिमाचल प्रदेश सरकार इस मैच की अनुमति देती है तो यह पठानकोट और पम्पोर के शहीदों का अपमान होगा। उन्होंने कहा कि हम आने वाले दिनों में इस मैच का धर्मशाला में बड़े स्तर पर विरोध करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App