ताज़ा खबर
 

शुरू से ही बिंदास बोलने के आदी हैं शत्रुघ्न सिन्हा, बचपन में उनका सवाल सुन हकला गए थे वीसी

आज हम आपको पढ़ा रहे हैं, वरिष्ठ भाजपा नेता और बॉलीवुड एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा की जिंदगी का पुराना वाकया, जिसमें उन्होंने टॉयलेट से जुड़ा सवाल पूछकर कलकत्ता यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर (वीसी) की बोलती बंद कर दी थी।

भाजपा सासंद शत्रुघ्न सिन्हा। (पीटीआई फाइल फोटो)

भाजपा नेता और एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा ट्विटर पर बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी से छिड़े वर्चुअल वॉर को लेकर सुर्खियों में हैं। लालू यादव की बेनामी संपत्ति मामले को लेकर सुशील मोदी ने अप्रत्यक्ष रूप से शत्रु को गद्दार बताया था।

शॉटगन शत्रुघ्न ने ट्वीट कर बिहार में भाजपा की हार का ठीकरा सुशील मोदी पर फोड़ा और उन पर कार्रवाई की मांग की। आपको बता दें कि शत्रु में यह तेवर अभी से नहीं है, बल्कि जन्मजात हैं। बचपन से ही वह अपने तल्ख सवालों से अच्छे-अच्छों की खटिया खड़ी करने में माहिर रहे हैं।

आज हम आपको पढ़ा रहे हैं, उनका एक पुराना वाकया, जिसमें कुछ इसी तरह उन्होंने कलकत्ता यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर (वीसी) की बोलती बंद कर दी थी। उनके पास भी शत्रु के सवाल का जवाब नहीं था। वह हकलाने लगे थे।

Shatrughan Sinha, Sanjay Dutt, Gandhigiri, Mumbai, Bollywood भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा (पीटीआई फाइल फोटो)

शत्रु की बायोग्राफी ‘एनीथिंग बट खामोश’ के मुताबिक बहन अन्नपूर्णा और उनके पति बीसी सिन्हा ने शत्रु को अपने साथ राजगीर में रहने के लिए बुलाया था। वह भी बड़े चाव से वहां उनके पास गए। एक दिन वे उन्हें एक कार्यक्रम में ले गए, जहां कई बुद्धिजीवी पहुंचे थे। कलकत्ता यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर भी उनमें से एक थे। वह लोगों को संबोधित कर रहे थे। शत्रु भी थोड़ी-बहुत बंगाली जानते-समझते थे। उन्होंने भी नालंदा यूनिवर्सिटी के अनुशासन, पढ़ाई-लिखाई और वहां की सुविधाओं के बारे में काफी सुना था।

सब लोग बड़े ही ध्यान से उनका लेक्चर सुन रहे थे। तपाक से शत्रु टेबल से उठे और उसी दौरान कॉन्फिडेंस के साथ नालंदा में पब्लिक टॉयलेट्स को लेकर उनसे सवाल दाग दिया। बोले, बताएं कि नालंदा में लोगों के लिए पब्लिक टॉयलेट को लेकर क्या सुविधाएं हैं।

Shatrughan Sinha, Lalu Prasad, JDU, शत्रुघ्न सिन्हा, लालू प्रसाद, जदयू, बिहार चुनाव भाजपा सासंद शत्रुघ्न सिन्हा। (पीटीआई फाइल फोटो)

वीसी इस पर हकलाने लगे। कार्यक्रम का माहौल देखने लायक था। वहां बैठे लोग हो-हल्ला करने लगे। अन्नपूर्णा और उनके पति भी शत्रु के इस तेवर से भौचक्क रह गए थे। इसी क्रम में शॉटगन की पत्नी पूनम (हंसते हुए) बताती हैं कि उनमें अभी भी वैसा ही जुनून है। जब भी वह कहीं जाते हैं, तो सबसे पहले रेस्टरूम की सुविधाएं तलाशते हैं।

(नोटः स्टोरी में शॉटगन की बायोग्राफी ‘एनीथिंग बट खामोश’ से तथ्य लिए गए हैं। किताब भारती एस.प्रधान ने लिखी है। ओम पब्लिशिंग हाउस ने इसे प्रकाशित किया है। जनसत्ता ने प्रकाशन समूह से किताब के तथ्य इस्तेमाल करने के लिए अनुमति ली है।)

देखें वीडियोः अनुराग कश्यप पर भड़के शत्रुघ्न सिन्हा और अभिजीत भट्टाचार्य; मोदी को बताया एक्शन हीरो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App