ताज़ा खबर
 

नौ फरवरी को भूख और हस्तक्षेप से आजादी के नारे नहीं लगाये गए: ABVP

भारतीय जनता पार्टी के छात्र संगठन एबीवीपी ने शनिवार को दावा किया कि नौ फरवरी को जेएनयूएसयू अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने भूख या जेएनयू में हस्तक्षेप से आजादी के नारे ‘कभी नहीं’ लगाये थे।

Author नई दिल्ली | March 7, 2016 12:35 AM
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) (AVBP File Pic)

भारतीय जनता पार्टी के छात्र संगठन एबीवीपी ने शनिवार को दावा किया कि नौ फरवरी को जेएनयूएसयू अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने भूख या जेएनयू में हस्तक्षेप से आजादी के नारे ‘कभी नहीं’ लगाये थे। एबीवीपी ने जमानत के बाद कन्हैया कुमार के भाषण को केवल ‘बयानबाजी और दिखावा’ करार दिया।

एबीवीपी ने कहा, ‘हम ‘संवैधानिक मशीनरी’ और ‘भारतीय संविधान’ पर इस नये विश्वास का स्वागत करते हैं। बयानबाजी लंबे समय तक सत्य को छिपा नहीं सकती। नौ फरवरी को विश्वविद्यालय परिसर में भूख से आजादी अथवा विश्वविद्यालय को हस्तक्षेप से आजादी जैसे नारे कभी नहीं लगाये गये।’

जेएनयूएसयू के संयुक्त सचिव सौरभ शर्मा ने कहा, ‘यह पूरे मामले को कमजोर करने की साजिश है, ताकि मुख्य मुद्दे से ध्यान भटकाया जा सके। लेकिन इस छोटे से हलचल के बाद भी वाम दल सुरक्षित हैं।’ उन्होंने कहा, ‘निवेदिता मेनन ने अपने लेक्चर में कहा था कि ‘भारत ने अवैध रूप से कश्मीर पर कब्जा’ किया है।’

एबीवीपी ने एक बयान जारी करके कहा, ‘हम इस तरह के बयानों के लिए जेएनयूएसयू के खिलाफ प्रस्ताव लाने और डीएसयू और मेनन से माफी मांगने की मांग करते हैं। हम इसके पक्ष में मतदान करने का वादा करते हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App