ताज़ा खबर
 

ONGC व रेलवे के बीच शास्त्री हाकी का फाइनल

लाल बहादुर शास्त्री हाकी टूर्नामेंट का फाइनल ओएनजीसी और भारतीय रेलवे के बीच खेला जाएगा।

Author नई दिल्ली | January 3, 2016 00:12 am
इस जीत से वारियर्स की टीम सात मैचों में 22 अंक के साथ दूसरे स्थान पर पहुंच गई है। लांसर्स के भी इतने ही मैचों में इतने ही अंक हैं लेकिन बेहतर गोल अंतर के कारण टीम शीर्ष पर चल रही है। (फाइल फोटो)

लाल बहादुर शास्त्री हाकी टूर्नामेंट का फाइनल ओएनजीसी और भारतीय रेलवे के बीच खेला जाएगा। शिवाजी स्टेडियम में खेले गए सेमीफाइनल में रेलवे ने एअर इंडिया को 5-4 और ओएनजीसी ने इंडियन आयल को 6-3 गोलों से हरा कर खिताबी दौर में जगह बनाई। फाइनल रविवार को दो बजे से खेला जाएगा। शनिवार को खेले गए दोनों ही सेमीफाइनल रोमांचक रहे। दोनों का फैसला पेनल्टी शूटआउट में हुआ।

ओेएनजीसी और इंडियन आयल की टीमों के बीच खेले गए पहले सेमीफाइनल में मुकाबला 2-2 से बराबर रहने के बाद पेनल्टी शूटआउट के जरिए मैच का फैसला हुआ। ओएनजीसी ने जोरदार शुरुआत करते हुए सातवें मिनट पर दिवाकर राम के पेनल्टी कार्नर पर बनाए गोल की मदद से बढ़त ले ली। हालांकि पहले हाफ में दोनों ही टीमों ने जोरदार प्रयास किए लेकिन कोई भी टीम गोल करने में सफल नहीं हुई।

दूसरे हाफ में इंडियन आयल ने वापसी की और 37वें मिनट पर रोशन मिंज ने शानदार मैदान गोल कर टीम को बराबरी दिला दी। बराबरी का गोल पाने के बाद इंडियन आयल ने मैच पर पकड़ बनाई और ओएनजीसी को ज्यादातर समय बचाव में मशगूल रखा। लेकिन 56वें मिनट पर इंडियन आयल ने ओएनजीसी के किले को भेद कर बढ़त बना ली। प्रभजोत सिंह ने गोल कर टीम को बढ़त दिला दी। एक गोल से पिछड़ने के बाद ओएनजीसी की टीम हरकत में आई और उसने दोनों फ्लैंकों का बेहतर इस्तेमाल कर हमले किए। चार मिनट बाद ही उन्हें बराबरी का गोल मिल गया। दिवाकर राम ने पेनल्टी कार्नर पर गोल कर टीम को 2-2 से बराबरी दिला दी।

हालांकि इसके बाद दोनों ही टीमों ने गोल करने के लिए लगातार हमले किए लेकिन दोनों ही टीमों के डिफेंडरों ने बेहतर प्रदर्शन किया और गोल होने नहीं दिया। तब मैच का फैसला पेनल्टी शूटआउट से हुआ। पेनल्टी शूटआउट में ओएनजीसी ने चार और इंडियन आयल ने एक गोल किए। ओएनजीसी की तरफ से सुमित, सुमित कुमार, गुरजांत सिंह और विक्रमजीत सिंह ने गोल किए, जबकि इंडियन आयल की तरफ से इकलौता गोल विकास शर्मा ने किया। गुरजेंदर सिंह व गुणाशेखर पेनल्टी पर चूक गए। दिवाकर राम को मैच के श्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार सुनील महनोत ने दिया।

दूसरा सेमीफाइनल में भी रोमांचक हुआ। दोनों ही टीमों ने कुछ बेहतरीन हाकी खेली। नौवें मिनट पर रेलवे ने उमेश कुमार के गोल की मदद से बढ़त ले ली। लेकिन बढ़त बहुत देर तक कायम नहीं रही और दो मिनट बाद ही एअर इंडिया के शेष गौवड़ा ने पेनल्टी कार्नर पर गोल कर टीम को बराबरी दिला दी। पहले हाफ में दोनों ही टीमें 1-1 से बराबर थीं। दूसरे हाफ में अरमान कुरैशी के मैदानी गोल की मदद से एअर इंडिया ने बढ़त ले ली। गोल दूसरा हाफ के 55वें मिनट पर बना। पिछड़ने के बाद रेलवे ने हमलों में पैनपान लाया और इसक फायदा उसे मिला।

खेल खत्म होने से पांच मिनट पहले सिमरनदीप सिंह ने पेनल्टी कार्नर को गोल में बदल कर टीम को बराबरी दिला दी। दोनों टीमें निर्धारित समय तक 2-2 से बराबर थीं, तब पेनल्टी शूटआउट का फैसला किया गया। पेनल्टी शूटआउट में रेलवे ने तीन और एअर इंडिया ने दो गोल किए। रेलवे की तरफ से सिमरनदीप सिंह, संजय कुमार बीर और संदीप कुमार सिंह ने गोल किए जबकि बलजिंदर सिंह गोल करने से चूक गए। एअर इंडिया की तरफ से शेष गौवड़ा और बिशन सिंह गोल करने में सफल रहे जबकि अर्जुन हलप्पा, जोगा सिंह और एबी चियन्ना गोल करने से चूक गए। सिमरनदीप सिंह को मैच के श्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार पूर्व मंत्री सुनील शास्त्री और आयकर विभाग के पूर्व मुख्य आयुक्त एलआर नैयर ने दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App