रामदेव: MNC कर रही है पतंजलि के खिलाफ साजिश - Jansatta
ताज़ा खबर
 

रामदेव: MNC कर रही है पतंजलि के खिलाफ साजिश

योगगुरू बाबा रामदेव ने पतंजलि के देसी घी और नूड्ल्स की गुणवत्ता के खिलाफ उठे विवाद के लिए बहुराष्ट्रीय कंपनियों को जिम्मेदार ठहराते हुए कोर्ट में घसीटने की चेतावनी दी है।

Author नई दिल्ली | February 2, 2016 3:31 PM
इसके अलावा रामदेव ने मीडिया पर भी सलेक्टिव रिपोटिंग करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जब नेस्ले और हिंदूस्तान युनिलिवर के उत्पाद लैब जांच में फैल साबित होते हैं तो मीडिया उन खबरो को प्रमुखता से नहीं छापती।

योगगुरू बाबा रामदेव ने पतंजलि के देसी घी और नूड्ल्स की गुणवत्ता के खिलाफ उठे विवाद के लिए बहुराष्ट्रीय कंपनियों को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि पतंजलि के उत्पादों की बढ़ती लोकप्रियता से घबराई बहुराष्ट्रीय कंपनियां उनके उत्पादों के खिलाफ दुष्प्रचार कर रही हैं। जिसमें देसी घी में फंगस लगने और नूड्ल्स में कीड़े होनी जैसी अफवाहें शामिल हैं।

स्वयं के पतंजलि का ब्रांड अंबेस्डर बताते हुए रामदेव ने कहा कि युनिलिवर की वृद्धि दर 4-5% है तो वहीं पतंजलि 100-150% की रफ्तार से आगे बढ़ रही है। हमारी बढ़ते व्यवसाय से घबराकर बहुराष्ट्रीय कंपनियां हमारी साख गिराने की कोशिश कर रही हैं। हम अपने सभी उत्पादों का परिक्षण एफएसएसएआई की प्रमाणित लैब में कराते हैं।

इसके अलावा रामदेव ने मीडिया पर भी सलेक्टिव रिपोटिंग करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जब नेस्ले और हिंदूस्तान युनिलिवर के उत्पाद लैब जांच में फेल साबित होते हैं तब मीडिया उन खबरो को प्रमुखता से नहीं छापती।

पतंजलि घी का व्यवसाय करीब 1500 करोड़ और शहद का करीब 200-300 करोड़ रुपये को पार कर चुका है जिस कारण डरी हुई बहुंराष्ट्रीय कंपनियां पतंजलि बिस्कुट में मिलावट की अफवाह उड़ा रही हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जिस व्यक्ति ने पतंजलि के घी में फंगस होने की शिकायत दर्ज की है उसने जानबुझ कर फ्रिज में बिना जार बंद किये घी रखा था ताकि यह विवाद किया जा सके। रामदेव ने अपने खिलाफ दुष्प्रचार कर रही सभी कंपनियों को कोर्ट में घसीटने की चेतावनी भी दी

पुत्रजीवक दवा के साथ चल रहे विवाद का जिक्र करते हुए रामदेव ने कहा कि हो सकता है किसी व्यक्ति को इस दवाई से एलर्जी की समस्या हो, ऐसे में उस व्यक्ति को दवा लेनी बंद कर देनी चाहिए। रामदेव ने कहा कि जल्द ही वो मिलावट के विरोध में बड़ा अभियान शुरू करने जा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App