ताज़ा खबर
 

पंजाब चुनाव: कांग्रेस और आप के सबसे ज्यादा दागी उम्मीदवार, कुल 101 के खिलाफ आपराधिक मामले

आपराधिक मामलों का सामना करने वालों में प्रमुख हैं नवजोत सिंह सिद्धू, कैप्टन अमरिंदर सिंह, सिमरजीत सिंह बैंस।

Author January 29, 2017 8:32 PM
पंजाब में एक रैली के दौरान राहुल गांधी, नवजोत सिंह सिद्धू और अमरिंदर सिंह। ( Photo Source: Indian Express/Gurmeet Singh)

पंजाब में करीब 101 उम्मीदवार विभिन्न आपराधिक मामलों का सामना कर रहे हैं जिनमें हत्या और हत्या के प्रयास जैसे मामले शामिल हैं। यह जानकारी चुनावों पर नजर रखने वाली संस्था एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर) ने दी है। इसके अलावा चुनावी मैदान में 1145 प्रत्याशियों में से 428 के पास एक करोड़ रूपये से ज्यादा की संपत्ति है और प्रति उम्मीदवार औसत संपत्ति 3.49 करोड़ रूपये है। एडीआर द्वारा उम्मीदवारों के हलफनामे के विश्लेषण के मुताबिक 1145 उम्मीदवारों में से 101 ने अपने खिलाफ अपराधिक मामले की घोषणा की है।

एडीआर के संस्थापक सदस्य जगदीप छोकर के मुताबिक इनमें से 78 के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले हैं जिनमें हत्या, हत्या के प्रयास और महिलाओं के खिलाफ अपराध शामिल हैं। उन्होंने कहा कि आपराधिक मामलों का सामना करने वालों में प्रमुख हैं नवजोत सिंह सिद्धू, कैप्टन अमरिंदर सिंह, सिमरजीत सिंह बैंस।

अमृतसर पूर्व से कांग्रेस उम्मीदवार 53 वर्षीय सिद्धू ने अपने हलफनामे में बताया कि 27 दिसम्बर 1988 को उनके खिलाफ भादंसं की धारा 302, 323, 34 के तहत मामला दर्ज किया गया। पटियाला की सत्र अदालत ने 22 सितम्बर 1999 को उन्हें मामले में बरी कर दिया। लेकिन पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने छह दिसम्बर 2006 को उन्हें दोषी पाया और उन्हें तीन वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई और एक लाख रूपये का जुर्माना किया। लेकिन उच्चतम न्यायालय ने 23 जनवरी 2007 को सजा निलंबित कर दी। लोक इंसाफ पार्टी के सिमरजीत सिंह बैंस पर भादंसं की धारा 302 और 332 के तहत मामला दर्ज है।

छोकर ने बताया कि एडीआर की तरफ से तैयार की गई रिपोर्ट के मुताबिक कांग्रेस के 14 उम्मीदवार, आम आदमी पार्टी के 12, शिरोमणी अकाली दल के दस और भारतीय जनता पार्टी के दो सदस्य तथा 20 निर्दलीय उम्मीदवार आपराधिक आरोपों का सामना कर रहे हैं।

वीडियो - पंजाब: रैली के दौरान राजनाथ सिंह बोले- “वोट नहीं देना तो मत दीजिए, लेकिन जूता मत फेंकिए”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App