ताज़ा खबर
 

लौकी खाइए, स्वस्थ रहिए

हरी सब्जियों में जहां कई लोग लौकी को पसंद करते हैं तो कई नहीं इसकी सब्जी खाने से इतराते हैं लेकिन अगर उन्हें इसके गुणों का पता चल जाए तो शायद वे रोज ही लौकी का सेवन करें।

स्वास्थ रहना है तो खाईए लौकी

हरी सब्जियों में जहां कई लोग लौकी को पसंद करते हैं तो कई नहीं इसकी सब्जी खाने से इतराते हैं लेकिन अगर उन्हें इसके गुणों का पता चल जाए तो शायद वे रोज ही लौकी का सेवन करें। लेकिन आज हमको इस हरी सब्जी के गुणों के बारे में बताते हैं। लौका एक ऐसी सब्जी है जिसमें 95 प्रतिशत पानी होता है, जिससे शरीर में पानी की पूर्ति भी होती है।

कम कैलोरी वाली लौकी को आसानी से पचाया जा सकता है। इसमें फाइबर होता है, ना पचने वाले आहार को भी पचाया जा सकता है। लौकी की तासीर ठंडी होती है और यह हमारे लिवर को दुरुस्त रखती है।

फाइबर युक्त होने से लौकी पेट के कई रोगों के लिए लाभदायक होती है। यह सब्जी अल्सर, पाइल्स और गैस के रोगियों को लिए काफी फायदेमंद सब्जी है। फाइबर होने के कारण लौकी जल्दी पच जाती है और शरीर में गैस की समस्या नहीं होती। अन्य रोगों में लाभप्रद पर्याप्त मात्रा में लौकी की सब्जी का सेवन कब्ज को भी दूर करता है। पेशाब से जुड़ी समस्याओं केइलाज में लौकी फायदा करती है।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Note 64 GB Venom Black
    ₹ 10892 MRP ₹ 15999 -32%
    ₹1634 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹0 Cashback

अगर पेशाब करते समय किसी को जलन महसूस होती है, तो उसके लिए भी डॉक्टर लौकी या उसका सूप पीना फायदावर्धक बताते हैं। वहीं अगर किसी के लीवर में प्रोबलम है और ठीक से काम नहीं कर रहा है, तो लौकी खाना उसके लिए फायदेमंद होता है। क्योंकि कम इसमें कम कैलोरी होती है।

लौकी के बीज का तेल कोलेस्टेरॉल को कम करता है और यह हृदय के लिए लाभप्रद है। लौकी रक्त की नाडिय़ों को भी स्वस्थ बनाती है। लौकी का उपयोग आंतों की कमजोरी, कब्ज, पीलिया, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, मधुमेह, शरीर में जलन आदि में बहुत उपयोगी है। इसके अलावा लौकी के जूस पीने से आंखों की रोशनी बढ़ती है।

लेकिन कई लोगों को लौकी पसंद नहीं होती, इसके लिए वे इसे दूसरी तरह की डिशेज के जरिए भी प्रयोग में ला सकते हैं। जैसे कि लौकी की खीर, रायता, हलवा आदि बना सकत हैं। लौकी की बर्फी भी बेहद स्वादप्रद होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App