ताज़ा खबर
 

J&K सरकार ने मांगी थी सेना के कब्‍जे वाली जमीन, PM मोदी ने दी खाली कराने की मंजूरी

जम्‍मू-कश्‍मीर सरकार ने केन्‍द्र सरकार से अनंतनाग में सेना के कब्‍जे वाली जमीन मुहैया कराने की मांग की थी।

नई दिल्‍ली | Updated: June 15, 2016 6:37 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनंतनाग में कश्मीर विश्वविद्यालय परिसर के विस्तार के लिए सेना के कब्जे में तकरीबन 458 कनाल भूमि को खाली करने के जम्मू कश्मीर सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। सूत्रों ने बताया कि पांच देशों के दौरे से लौटने के बाद प्रधानमंत्री ने कश्मीर मुद्दे पर बैठक बुलाई थी। बैठक में उन्होंने रक्षा मंत्रालय से कहा कि वह अनंतनाग में ‘हाई ग्राउन्ड’ को राज्य को यथाशीघ्र सौंप दे ताकि कश्मीर विश्वविद्यालय के दक्षिणी परिसर का विस्तार किया जा सके।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र राज्य में शिक्षा के चौतरफा विकास के लिए प्रतिबद्ध है। सेना ने सैद्धांतिक रूप में कुछ समय पहले जमीन को खाली करने पर सहमति जता दी थी लेकिन उसके मुख्यालय द्वारा कुछ देरी हो गई। जमीन को खाली करने की ताजा समय-सीमा 31 मार्च थी जिसपर राज्य के राज्यपाल की अध्यक्षता में हुई बैठक के दौरान सहमति बनी थी।

READ ALSO: Twitter पर ट्रेंड कर रहा #बकLOL_मोदी, खूब हो रही प्रधानमंत्री की खिंचाई

सेना के पास 1990 के दशक की शुरूआत से तकरीबन 2005.24 कनाल जमीन है। यह जमीन फतेहगढ़ इलाके में दक्षिणी परिसर के पास सैन्य शिविर के निकट है। इसका इस्तेमाल सेना हेलिकॉप्टरों को उतारने के लिए कर रही है जबकि बल के पास वहां से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर खानाबल में इसी तरह की सुविधा है। 346.7 कनाल जमीन 2004 में विश्वविद्यालय को दे दी गई थी। यह जमीन पहले सेना के कब्जे में थी। जमीन को सौंपने की प्रक्रिया पूर्ववर्ती उमर अब्दुल्ला सरकार के कार्यकाल के दौरान शुरू हुई थी।

Next Stories
1 पुलिसवालों की हत्‍या: श्रीनगर में आतंकवाद ने फिर दी दस्‍तक? जानें क्‍या कहती है अब तक की जांच
2 कश्‍मीर: नहीं हुई मरम्‍मत तो गांववालों ने सड़क पर ही बो दिए धान
3 श्रीनगर: दोहरे आतंकी हमले में तीन पुलिसकर्मी की मौत, हिजबुल मुजाहिदीन ने ली जिम्मेदारी
यह पढ़ा क्या?
X