ताज़ा खबर
 

एशिया कप: भारत के खिलाफ हार से पाकिस्तानी प्रशंसक निराश

टेलीविजन चैनलों पर कुछ प्रशंसकों को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और खिलाड़ियों के खिलाफ नारे लगाते और उन्हें बाहर करने की मांग करते हुए दिखाया गया

Author कराची | February 29, 2016 12:59 AM
एशिया कप में ढाका में हुए टी20 मुकाबले में हार्दिक पंड्या की गेंद पर आउट होकर पवेलियन लौटते पाकिस्तानी बल्लेबाज शोएब मलिक। (पीटीआई फाइल फोटो)

पाकिस्तानी क्रिकेट प्रशंसकों और पूर्व खिलाड़ियों ने एशिया कप टी20 मैच में शनिवार को यहां चिर प्रतिद्वंद्वी भारत के खिलाफ राष्ट्रीय टीम की हार पर निराशा और नाराजगी जताई है। पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर कराची में कल विभिन्न जगहों पर जाइंट स्क्रीन पर मैच देखने के लिए जुटे प्रशंसक इस हार से काफी निराश और नाराज हुए।

टेलीविजन चैनलों पर कुछ प्रशंसकों को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और खिलाड़ियों के खिलाफ नारे लगाते और उन्हें बाहर करने की मांग करते हुए दिखाया गया जबकि देश के कुछ अन्य हिस्सों में निराश प्रशंसकों ने अपने टेलीविजन सेट तोड़ दिए। खबरों के अनुसार पंजाब के कुछ हिस्सों में नाराज प्रशंसकों ने कप्तान शाहिद अफरीदी और अन्य खिलाड़ियों के पुतले और पोस्टर जलाए। प्रशंसक इस बात से और नाराज हो गए जब अफरीदी ने कहा कि भारत के खिलाफ शिकस्त बहुत बड़ी बात नहीं है और पाकिस्तानी टीम वापसी कर सकती है।

एक नाराज पूर्व टैस्ट खिलाड़ी सिकंदर बख्त ने जियो न्यूज चैनल से कहा, ‘बहाने बनाना बंद करो और क्रिकेट खेलना शुरू करो। तुम बच्चे नहीं हो’। बख्त ने कहा, ‘अरे भाई क्रिकेट तो खेलो और प्रदर्शन करो। खेलते रहो। संन्यास मत लो लेकिन प्रदर्शन तो करो’। पूर्व टैस्ट कप्तान मोहम्मद यूसुफ और तेज गेंदबाज सरफराज नवाज ने भी विश्व टी20 के बाद संन्यास के फैसले पर पुनर्विचार करने के बयान के लिए अफरीदी को लताड़ा। यूसुफ ने कहा कि वे हमेशा से कहते आए हैं कि पाकिस्तानी बल्लेबाज मुश्किल पिचों पर खेलने के लिए तकनीकी रूप से कमजोर हैं और भारत के खिलाफ मैच में यह दोबारा साबित हुआ।

यूसुफ ने कहा कि मुझे लगता है कि विराट कोहली ने दिखाया कि इस तरह की पिचों पर कैसे खेला जाता है। बताइए कि हमारे बल्लेबाज किस अच्छी गेंद पर आउट हुए। हमारे बल्लेबाज सिर्फ बल्लेबाजी की अनुकूल पिचों पर खेल सकते हैं। यूसुफ ने खराब प्रदर्शन के लिए कोचिंग स्टाफ को जिम्मेदार ठहराने से भी इनकार कर दिया। एक अन्य पूर्व कप्तान राशिद लतीफ ने भी टीम के प्रदर्शन पर निराशा जताई जबकि टैस्ट टीम के कप्तान मिस्बाह उल हक ने कहा कि पाकिसतान को अपनी रणनीति में सुधार करने की जरूरत है।

इसके साथ ही पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों हनीफ मोहम्मद, जावेद मियादाद और मोहम्मद यूसुफ ने समझबूझ और परिपक्व पारी खेलने के लिए विराट कोहली की तारीफ की। हनीफ मोहम्मद ने एक साक्षात्कार में कहा कि पावर हिटिंग को लेकर चर्चा ठीक है लेकिन आपको परिस्थितियों और विरोधी टीम के अनुरूप बल्लेबाजी करना सीखना होता है। भारत ने वर्षों से सुनील गावस्कर से लेकर कोहली तक कई शानदार बल्लेबाज पैदा किए। कई चोटी के बल्लेबाज होने के कारण भारतीय युवाओं को भी उनसे प्रेरणा मिलती रही। उन्होंने कहा कि भारतीय युवा खिलाड़ियों को सचिन तेंदुलकर से काफी प्रेरणा मिली।

मियादाद ने कहा कि पाकिस्तानी बल्लेबाजों को तकनीकी तौर पर बेहतर बनना होगा। उन्होंने कहा कि कोई भी कोच बल्लेबाज को यह नहीं सिखा सकता कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कैसे बल्लेबाजी करनी है। भारतीय बल्लेबाजों ने अपने खेल पर कड़ी मेहनत की है और वे रनों के लिए भूखे हैं। कोहली इसका उदाहरण है।

यूसुफ ने कहा कि कोहली ने दिखाया कि मुश्किल पिच पर बल्लेबाजी कैसे की जाती है। उन्होंने कहा कि जब भी हमारे बल्लेबाजों को सपाट विकेट मिलता है वे खूब रन बनाते हैं लेकिन जब गेंद मूव कर रही हो तो वे ढेर हो जाते हैं। जिस पिच से गेंदबाजों को मदद मिल रही हो उस पर प्रत्येक देश के बल्लेबाज संघर्ष करते हैं लेकिन जो खिलाड़ी अपनी तकनीक में सुधार कर देते हैं, वे इसका सामना कर लेते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App