ताज़ा खबर
 

जानें कैसे: ‘भारतीय पुरुषों में Osteoporosis का खतरा अधिक’

केवल महिलाओं में ही नहीं बल्कि भारतीय पुरुषों में भी ऑस्टियोपोरोसिस (अस्थिसुषिरता) का खतरा अधिक है। एक स्वास्थ्य सर्वेक्षण में यह दावा किया गया है । साथ ही इस बात का दावा भी किया गया है कि जांच में शामिल किये गये लगभग 73 लाख पुरुषों के रक्त के नमूनों में से करीब 80 प्रतिशत […]

Author नई दिल्ली | September 8, 2015 8:23 AM

केवल महिलाओं में ही नहीं बल्कि भारतीय पुरुषों में भी ऑस्टियोपोरोसिस (अस्थिसुषिरता) का खतरा अधिक है। एक स्वास्थ्य सर्वेक्षण में यह दावा किया गया है । साथ ही इस बात का दावा भी किया गया है कि जांच में शामिल किये गये लगभग 73 लाख पुरुषों के रक्त के नमूनों में से करीब 80 प्रतिशत के रक्त में विटामिन डी का स्तर काफी कम पाया गया जो हड्डी की मजबूती के लिए महत्वपूर्ण होता है।

ऑस्टियोपोरोसिस स्वास्थ्य से जुड़ी वह स्थिति होती है जिसमें हड्डियां कमजोर और नाजुक हो जाती हैं। मासिक धर्म के बंद हो जाने के बाद यह स्थिति सामान्यत: महिलाओं में पायी जाती है।

एसआरएल डायग्नॉस्टिक द्वारा तीन वर्ष तक (2012 से 2014) पूरे भारत में किये गये सर्वेक्षण के आंकड़ों के अनुसार करीब 73 लाख लोगों के जांच नमूनों में से 80.63 प्रतिशत में विटामिन डी का स्तर असामान्य था।

सर्वेक्षण की रिपोर्ट में कहा गया है ‘‘विटामिन डी के स्तर में कमी सबसे अधिक पूर्वी क्षेत्र में 86.6 प्रतिशत, उत्तरी क्षेत्र में 81.3 फीसदी और दक्षिणी क्षेत्र में 85.6 फीसदी रहा।’’

इसके अनुसार सबसे कम का आंकड़ा पश्चिमी भारत का हैं जहां 69.8 लोगों में यह समस्या पायी गयी।

विटामिन डी जांच के मूल्यांकन का विश्लेषण देश भर के विभिन्न शहरों में रह रहे पुरुषों में किया गया।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार वैश्विक स्वास्थ्य समस्याओं में हृदय रोग के बाद ऑस्टियोपोरोसिस दूसरे स्थान पर है।
आंकड़ों के अनुसार भारत में प्रति आठ में एक पुरच्च्ष और प्रति तीन में एक महिला इस समस्या से ग्रस्त है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App