ताज़ा खबर
 

फिल्म समीक्षा : डेडपूल 2, सुपर हीरो का कमाल

निर्देशक- डेविड लीच, कलाकार-रियान रेनोल्ड्स, जूलियन डेनिसन, जोश ब्रोलिन, मोरेना बकारिन।

डेडपूल बॉलीवुड के हीरो रनवीर सिंह की आवाज में क्यों बोल रहा है।

दर्शक पहले तो भ्रमित हो जाएगा और सोचेगा कि हॉलीवुड के सुपर हीरो डेडपूल की आवाज को यह क्या हो गया है। उसे ये भी अचरज होगा कि डेडपूल बॉलीवुड के हीरो रनवीर सिंह की आवाज में क्यों बोल रहा है। लेकिन जल्द ही उसे ये एहसास हो जाएगा कि ऐसा जानबूझकर किया गया है और आवाज भले रनवीर सिंह की हो शरीर डेडपूल का ही है। ‘डेडपूल 2’ अमेरिकी सुपर हीरो शृंखला की दूसरी फिल्म है लेकिन एक्शन सीन भले हॉलीवुड वाले हैं, संवादों का भारतीयकरण और हिंदीकरण कर दिया गया है। एक तरह से संवादों का रूपांतरण कर दिया गया है और देखनेवाले को ये लगेगा कि हॉलीवुड और बॉलीवुड एक दूसरे के गले में वरमाला डाल रहे हैं यानी उनका मिलन हो रहा है। पर ये एक मार्केटिंग स्ट्रेटजी भी है जिससे भारतीय दर्शकों को लुभाया जा सके।

पर क्या फिल्म हिंदी और अंग्रेजी में भी पूरी तरह कामयाब होगी क्योंकि सेंसर के कारण मूल फिल्म में बड़े पैमाने पर कटाई छंटाई हुई है। फिर भी ये दर्शकों को हंसाने में कुछ हद तक कामयाब तो रहेगी क्योंकि इसमें कुछ ऐसे दृश्य हैं जो हर देश और भाषा के लोगों को हंसाने की ताकत रखते हैं। जैसे एक जगह ये दिखाया है गया है कि सुपरहीरो वेड विल्सन उर्फ डेडपूल के नीचे का हिस्सा एक हादसे में कट गया है और वो फिर से उग रहा है। उसका नीचे वाला हिस्सा यानी पैर तो बच्चे जैसे हैं लेकिन ऊपर का धड़ एक वयस्क आदमी का।

‘डेडपूल 2’ में हंसी के साथ-साथ जबर्दस्त एक्शन भी है। पर साथ ही इसमें नैतिक आवाज भी है। इसमें सुपरहीरो एक ऐसे बच्चे को बचाने की कोशिश करता और उसमें कामयाब भी रहता है कि जो म्यूटांट है। दूसरों को जलाकर खाक कर देने की क्षमता रखता है। फिल्म के जो संवाद हिंदी में हैं वे बेहद चुटीले हैं खासकर वनलाइनर यानी एक लाइन वाले। सीजीआइ (कंप्यूटर जेनरेटेड इमेजरी) तकनीक और वीएफएक्स (कंप्यूटर से विजुअल इफेक्ट बनाने) की तकनीक का फिल्म में बहुत अच्छा इस्तेमाल है जिसके कारण इसका कॉमिक प्रभाव काफी असरदार हो गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App