ताज़ा खबर
 

फिल्म मनमर्जियां की समीक्षा: प्रेम त्रिकोण की नई कहानी

यह फिल्म कुछ-कुछ संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’ से भी प्रेरित नजर आती है। वहां भी हीरोइन अपने पहले प्यार को भूल नहीं पाती तो पति उसे उसके प्रेमी के पास ले जाता है।

निर्देशक- अनुराग कश्यप, कलाकार-अभिषेक बच्चन, तापसी पन्नू, विकी कौशल।

एक लड़का है और एक लड़की। दोनों को एक-दूसरे से प्यार है और इसी प्यार में दोनों घर से भागने का प्लान बनाते हैं। लड़का बाकायदा जीप लेकर आता है और दोनों घर छोड़कर निकल भी जाते हैं, लेकिन रास्ते में जब एक ढाबे पर खाना खाने के लिए रुकते हैं तो लड़के की जेब में एक फूटी कौड़ी नहीं होती है। लड़की उस समय तो पैसे दे देती है, लेकिन बाद में लड़के से पूछती है और तब वो कहता है कि उसकी जेब खाली है। उसी वक्त लड़की और दर्शक दोनों समझ जाते हैं कि लड़का जिम्मेदार नहीं है। तब लड़की कहती है, जा पहले जिम्मेदार बनकर आ, फिर देखते हैं। जी हां, कुछ ऐसी ही शुरुआत है इस हफ्ते रिलीज हुई फिल्म ‘मनमर्जियां’ की।

लड़की का नाम है रूमी (तापसी पन्नू) और लड़का है विक्की (विकी कौशल)। रूमी बिंदास है और विक्की एक डीजे ग्रुप में गायक है। दोनों अमृतसर में रहते हैं। रूमी हॉकी खिलाड़ी रही है (पर कभी खेलते नहीं दिखी) और कभी घरवालों से नजरें बचाकर तो कभी उनके सामने भी अपने प्रेमी से मिल लेती है। इनकी प्रेम कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब रूमी की शादी रॉबी भाटिया (अभिषेक बच्चन) से हो जाती है। लेकिन रूमी शादी के बाद भी अपने पुराने प्रेमी को भूल नहीं पाती है और उससे मिलती रहती है।

आखिर में रूमी किसे चुनती है, यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी। ‘मनमर्जियां’ के निर्देशक हैं अनुराग कश्यप जो ‘ब्लैक फ्राईडे’ और ‘गैंग्स आॅफ वसेपुर’ जैसी गंभीर और मारधाड़ वाली फिल्मों के लिए जाने जाते हैं, लेकिन इस बार वह एक रोमांटिक कॉमेडी के साथ दर्शकों के सामने हाजिर हैं। उनकी यह फिल्म कुछ-कुछ संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’ से भी प्रेरित नजर आती है। वहां भी हीरोइन अपने पहले प्यार को भूल नहीं पाती तो पति उसे उसके प्रेमी के पास ले जाता है।

फर्क यही है कि उसमें ऐश्वर्या राय शादी के बाद गुस्सैल और गंभीर बन जाती हैं और इस फिल्म में तापसी पन्नू शादी के बाद अपने पति अभिषेक बच्चन के साथ बैठकर व्हिस्की पीती हैं और उसके बाद पूरे मोहल्ले को सुनाकर कुछ डॉयलाग भी मारती हैं और अगले दिन अपने पुराने यार से मिलने भी चली जाती हैं। वैसे यह फिल्म तापसी पन्नू की है, लेकिन अभिषेक बच्चन भी सीधे-सादे किरदार में काफी अच्छे लगे हैं। विकी कौशल शुरू में तो दमदार दिखते हैं लेकिन फिल्म के अंत तक आते-आते उनका किरदार बेअसर हो जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App