ताज़ा खबर
 

23 साल बाद रिहा हुए पिता से मिलते ही 27 साल के बेटे को पड़ा हर्ट अटैक, जेल के बाहर तोड़ा दम

बेटे ने पिता के जेल से रिहा होने के बाद शादी का प्लान बनाया था।

Malayalam actress molestation, Malayalam actress case, Malayalam actress News, Malayalam actress latest news, Malayalam actress rapeयह तस्वीर प्रतीक के तौर पर इस्तेमाल की गई है।

साल 1996 में जब साजिद मकवाना के पिता हसन को बॉम्बे हाईकोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई तो वे मुश्किल से चार साल को होगा। हसन ने सजा सुनाए जाने के बाद कभी भी पैरोल के लिए आवेदन नहीं किया। इसलिए 23 साल की सजा पूरी होने के बाद जब हसन मंगलवार को कालंबा सेंट्रल जेल से रिहा हो रहे थे तो उसका बेटा साजिद बहुत की खुश था। हालांकि, उसके पिता के रिहा होने की खुशी उसे कुछ ज्यादा ही गई, जिसकी वजह से जेल के बाहर ही साजिद की दिल के दौरे से मौत हो गई।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपने रिपोर्ट में जेल के सुप्रिडेंट शरद शेल्के के हवाले से लिखा है कि 64 वर्षीय हसन जेल से दोपहर में बाहर आए। अखबार को शेल्के ने बताया, ‘जब वह बाहर निकला तो पहले तो उन्होंने जेल की तरफ अपना मुंह करके सैल्यूट किया और फिर अपने परिवार के सदस्यों से मिलने के लिए चले गए, जो कि सड़क की दूसरी साइड कार में थे। साजिद अपने पिता से मिलने को लेकर बहुत ही खुश था, वह अपनी भावनाओं को नियंत्रित नहीं कर पा रहा था। जब वह हसन से बातचीत कर रहा था, तभी साजिद ने सीने में दर्द की शिकायत की और गिर गया। परिवार के सदस्य उसे नजदीकी अस्पताल में ले गए, जहां दिल के दौरे से उसे मृत घोषित कर दिया गया।’

साजिद मुंबई के अंधेरी में एक मोटर ड्राइविंग स्कूल चलाता था। उसने अपने पिता हसन के जेल से छूट जाने के बाद शादी करने का प्लान बनाया था। हसन का एक युवक से झगड़ा हुआ था, जिसकी बाद में मौत हो गई थी। इसके बाद साल 1977 में मुंबई पुलिस ने हसन को गिरफ्तार कर लिया। फिर 1978 में कोर्ट ने उसे दोषी ठहराते हुए उम्रकैद की सजा सुना दी। हसन ने साल 1981 में बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की और जमानत ले ली। फिर 1996 में हाईकोर्ट ने इस मामले में हसन की उम्रकैद की सजा को बरकरार रखा और उसे यरवादा जेल भेज दिया गया। उसके बाद नवंबर 2015 में उसे कालंबा जेल में शिफ्ट किया गया।

साथ ही रिपोर्ट में शेल्के के हवाले से लिखा गया है, ‘हसन ने साल 1996 से पैरोल के लिए आवेदन नहीं किया, वह जेल में रहते हुए अपने परिवार से केवल फोन पर ही बात करते थे। पिछले सप्ताह उसे राज्य सरकार से पत्र मिला कि उन्हें 17 जनवरी को रिहा किया जा रहा है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मुंबई: 4 साल की बच्ची से पहले किया गैंगरेप, फिर कत्ल कर दलदल में दफनाया, 3 गिरफ्तार
2 उद्धव ठाकरे ने उड़ाया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मजाक, कहा- लोग मित्रों सुनते ही भाग खड़े होते हैं
3 देश की पहली एयर एंबुलेंस लॉन्‍च करना चाहती है बीएमसी, एक्सपर्ट्स का सवाल- खर्चा कौन उठाएगा
ये पढ़ा क्या?
X