ताज़ा खबर
 

झारखंड: पोस्टर में पीएम मोदी को भगवान राम के तौर पर दिखाया, बीजेपी शर्मिंदा

बीजेपी आठ नवंबर को पिछले साल इसी दिन लागू की गयी नोटबंदी के अवसर पर कालाधन विरोधी दिवस मना रही थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर, 2016 को रात 8 बजे 500 व 1,000 रुपये के नोट बंद होने का ऐलान किया था। (Photo: PTI)

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को उस वक्त असहज स्थिति का सामना करना पड़ा जब पार्टी के एक नेता ने आठ नवंबर को कालाधन विरोधी दिवस मनाने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राम के रूप में दिखा दिया। इस होर्डिंग नरेंद्र मोदी 10 सिर वालों राक्षस पर तीर चलाते दिख रहे थे। ये होर्डिंग बीजेपी टूरिज्म सेल के संयोगक बीके नारायण ने लगवायी थी। नारायण ने सफायी देते हुए कहा कि वो प्रधानमंत्री को अर्जुन के रूप में दिखाना चाहता था न कि राम के रूप में। झारखंड बीजेपी के प्रवक्ता प्रतुल सहदेव ने नारायण की होर्डिंग से दूरी बनाते हुए कहा कि ये होर्डिंग आधिकारिक तौर पर नहीं लगवायी गयी थी।

शाहदेव ने कहा, “ये आधिकारिक होर्डिंग नहीं थी फिर भी मैं इसके लिए क्षमा मांगता हूं कि ये बगैर किसी स्तर पर मंजूरी लिए मीडिया में प्रचारित हुआ। हम इसकी जांच करेंगे और पता करेंगे कि ये कैसा हुआ।” बीजेपी के एक पदाधिकारी ने कहा, “हम अपने बहादुर नेता (पीएम मोदी) के साहसिक कदम और दूसरी उपलब्धियों के समर्थन में हैं। लेकिन इसके लिए कोई तमाशा खड़ा करने की जरूरत नहीं। किसी इंसान को भगवान राम के तौर पर दिखाना उचित नहीं।”

नारायाण द्वारा लगवायी गयी होर्डिंग में पीएम मोदी के हाथ में चार तीर दिखायी दे रहे थे। 10 चेहरे वाले राक्षस के मुखौटों पर नोटबंदी, भ्रष्टाचार के खिलाफ मुकदमा, भ्रष्टाचारियों की संपत्ति जब्त करना और अदलात में जल्दी सजा मिलना इत्यादि लिखे हुए थे। होर्डिंग पर कालाधन और भ्रष्टाचार लिखा हुआ था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर 2016 को रात आठ बजे उसी रात 12 बजे से 500 और 1000 रुपये के नोटों को बंद करने की घोषणा की थी। नोटबंदी के रोजगार और भारतीय अर्थव्यवस्था पर पड़े असर को लेकर एक साल से बहस जारी है। एक तरफ बीजेपी इसे सफल बता रही है तो दूसरी तरफ विपक्ष और कई आर्थिक विशेषज्ञ इसे मोदी सरकार का गलत फैसला मान रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App