ताज़ा खबर
 

भारत से दीवानगी जताने पर ‘देशद्रोही’ हो गए अफरीदी

भारत आने पर अफरीदी ने कहा था- हमें भारत में खेलने में हमेशा मजा आता है। मैदान पर भारतीय फैंस से हमें काफी प्‍यार भी मिलता है।

Author लाहौर/कराची | March 15, 2016 12:50 AM
पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान जावेद मियांदाद। (फाइल फोटो)

शाहिद अफरीदी को ‘देशद्रोह करने’ और पाकिस्तानियों की ‘भावानाओं को ठेस पहुंचाने’ के लिए सोमवार को अदालत में कार्रवाई का सामना करना पड़ा। अफरीदी ने रविवार को कहा था कि राष्ट्रीय क्रिकेट टीम को पाकिस्तान की तुलना में ‘भारत में ज्यादा प्यार’ मिलता है जिसके कारण उन्हें इस कार्रवाई का सामना करना पड़ा। एक वरिष्ठ वकील ने विश्व टी20 टूर्नामेंट से पहले भारत में यह बयान देने के लिए पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान को कानूनी नोटिस भेजा है।

वकील अजहर सादिक ने कानूनी नोटिस की सामग्री साझा करते हुए कहा कि मैंने शाहिद अफरीदी और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के नजम सेठी को पाकिस्तान के मुकाबले भारत से ज्यादा प्यार के लिए कानूनी नोटिस भेजा है। मैंने पीसीबी अध्यक्ष शहरयार खान को भी लिखा है कि वे भारत में अफरीदी के बयान की जांच कराएं। अजहर ने कहा कि अफरीदी ने पाकिस्तान से ज्यादा भारत के लिए प्यार दिखाकर पूरे देश को निराश किया है। उन्होंने देशद्रोह किया है। अब कौन सुनिश्चित करेगा कि पाकिस्तान टीम टी-20 मैच में कोलकाता में भारत के खिलाफ जीतने के लिए खेलेगी।

Read Also: T20 World Cup: शाहिद आफरीदी बोले- भारत में मिला पाकिस्‍तान से भी ज्‍यादा प्‍यार

अफरीदी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा था, ‘मैंने भारत में खेलने का जितना लुत्फ उठाया है उतना कहीं नहीं उठाया। मैं अपने करिअर के अंतिम पड़ाव पर हूं और कह सकता हूं कि भारत में मुझे जितना प्यार मिला, उसे हमेशा याद रखूंगा। हमें इतना प्यार पाकिस्तान में भी नहीं मिला। यहां पाकिस्तान की तरह ही क्रिकेट के दीवाने लोग हैं। कुल मिलाकर मैंने अपने क्रिकेट करिअर में भारत में खेलने का काफी लुत्फ उठाया।

अजहर ने कहा कि अफरीदी के असंवेदनशील बयान ने ना सिर्फ पाकिस्तानियों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है बल्कि साथ ही उनका जीवन भी असुरक्षित हो गया है। उन्होंने कहा कि अल्लाह ना करे अगर पाकिस्तान भारत के खिलाफ मैच हार गया, अफरीदी के भारत समर्थित बयानों को ध्यान में रखते हुए यहां कोई उसे कभी माफ नहीं करेगा। अजहर ने कहा कि अफरीदी दूत या राजनयिक नहीं है और उसे अपने गैरजरूरी बयान को वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि पीसीबी को नजम सेठी की भूमिका की जांच करनी चाहिए क्योंकि हो सकता है कि उन्होंने भारत के पक्ष में बोलने के लिए अफरीदी को जोर दिया हो। सेठी ने हमेशा भारत का समर्थन किया है। ये नोटिस अफरीदी और सेठी के निवास पर भेजे गए हैं।

उधर, शाहिद अफरीदी की टिप्पणी से ‘आहत और हैरान’ पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने कहा कि इस तरह के बयान देने वाले खिलाड़ियों को खुद पर ‘शर्म आनी’ चाहिए। अफरीदी ने कहा था कि पाकिस्तानी क्रिकेटरों को यहां से कहीं ज्यादा भारतीय दर्शकों से प्यार मिलता है। मियांदाद ने एक चैनल से कहा, इन क्रिकेटरों को इस तरह की चीज कहने से पहले खुद पर शर्म करनी चाहिए। शर्म करो।

मियांदाद ने कहा कि पाकिस्तान विश्व टी-20 में भारत खेलने के लिए गया है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि खिलाड़ियों को मेजबानों की बड़ाई करनी चाहिए। मियांदाद ने कहा, हमें भारतीयों ने क्या दिया है? सच बोलो, भले ही आप भारत में हो। पिछले पांच साल में उन्होंने हमें क्या दिया है या पाकिस्तानी क्रिकेट के लिए क्या किया है। पाकिस्तानी क्रिकेट की इतने साल तक सेवा करने के बाद मैं हैरत में हूं और हमारे खिलाड़ियों से इस तरह की टिप्पणी सुनकर आहत हूं।

मियांदाद ने कहा कि पाकिस्तानी क्रिकेट अधिकारियों को इस मामले का संज्ञान लेना चाहिए और जब खिलाड़ी विदेश जाते हैं तो उनके लिये ‘उचित मीडिया क्लास’ होनी चाहिए। 124 टैस्ट मैच खेल चुके इस पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि इस टीम का काम भारत में जाकर अच्छा खेलना है न कि इस तरह की गैरजरूरी टिप्पणियां करना।

पाकिस्तान के पूर्व टैस्ट सलामी बल्लेबाज और मुख्य कोच मोहसिन खान ने भी अफरीदी और मलिक की टिप्पणी पर हैरानी जताई। खान ने कहा कि वे सीनियर खिलाड़ी हैं, उन्हें मीडिया में बोलते हुए सतर्क रहना चाहिए और वह भी भारत के दौरे पर।

गौरतलब है कि पिछले दिनों पाकिस्तान में भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली के एक प्रशंसक उमर दराज को इस अपराध में जेल भेज दिया गया था कि उसने विराट के प्रति दीवानगी जताने के साथ अपने घर की छत भारतीय तिरंगा फहरा दिया था। अफरीदी के कथित भारत समर्थक बयान ने फिर एक बार फिर पाक हुकूमत को भड़का दिया है और अब उनके बयान की पड़ताल हो रही है

* बयान पर पाकिस्तान में तीखी प्रक्रिया, कानूनी नोटिस भेजा गया
* जावेद मियांदाद बोले: ऐसे खिलाड़ियों को खुद पर ‘शर्म आनी’ चाहिए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App