ताज़ा खबर
 

ICC t-20 WC: अश्विन ने कहा, चैंपियनशिप में हमें हराना बेहद मुश्किल होगा

भारत के चोटी के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि अनुकूल परिस्थितियों में मेजबान टीम को चल रहे वर्ल्ड टी-20 चैंपियनशिप में हराना बेहद मुश्किल होगा।

Author नई दिल्ली | Published on: March 26, 2016 1:28 AM
आर अश्विन

भारत के चोटी के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि अनुकूल परिस्थितियों में मेजबान टीम को चल रहे वर्ल्ड टी-20 चैंपियनशिप में हराना बेहद मुश्किल होगा। भारत पहले मैच में टर्न लेते विकेट पर न्यूजीलैंड से हार गया था लेकिन उसने अगले मैच में इसी तरह की पिच पर पाकिस्तान को हराकर शानदार वापसी की।

अश्विन ने पाकिस्तान पर टीम की छह विकेट से जीत के बाद बीसीसीआईटीवी से कहा, हमारी टीम बहुत अच्छी है। जब हमारा दिन हो और परिस्थितियां हमारे अनुकूल हों तो फिर हमारी टीम को हराना बेहद मुश्किल होगा। लेकिन अपवाद होते हैं और भारतीय टीम के साथ भी कुछ अवसरों पर ऐसा हुआ है।

अश्विन ने कहा कि अपवाद भी होंगे। हम हाल में श्रीलंका के खिलाफ पुणे और फिर नागपुर में न्यूजीलैंड से हार गये थे। दोनों अवसरों पर विरोधी टीम ने हमारी तुलना में मैच का सही आकलन किया।

विचारशील क्रिकेटर माने जाने वाले अश्विन ने कहा कि भले ही ईडन गार्डन्स पर काफी टर्न मिल रहा था लेकिन यह उतना आसान नहीं था जितना लग रहा था। उन्होंने कहा, रविंद्र जडेजा और मैं एक निश्चित लेंथ पर गेंद कर रहे थे। यह महत्वपूर्ण था।

अश्विन ने इसके साथ ही कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ टॉस जीतना महत्वपूर्ण था। उन्होंने कहा कि सौभाग्य से हम टॉस जीत गए और पिच थोड़ा स्पिन ले रही थी जिससे काम आसान हो गया। विकेट में नमी थी। मैं सोच रहा था कि हमें पहले गेंदबाजी करनी चाहिए।

अश्विन ने मैच में आशीष नेहरा के साथ नयी गेंद संभाली और तीन ओवर में 12 रन दिये हालांकि उन्हें कोई विकेट नहीं मिला। उन्होंने बताया कि आखिर में वह पहले क्षेत्ररक्षण को क्यों सही मान रहे थे। इस ऑफ स्पिनर ने कहा कि इस तरह के विकेट पर आप पक्के तौर पर नहीं कह सकते कि आपको कितना स्कोर बनाना चाहिए।

महत्वपूर्ण यह होता है कि आप कसी हुई गेंदबाजी करो और विरोधी टीम को एक निश्चित स्कोर तक रोको। एक बार आप ऐसा कर देते हो तो फिर बल्लेबाजी करना आसान हो जाता है। इस तरह के विकेट पर लक्ष्य को पीछा करते हुए आप पारी को बेहतर तरीके से संवार सकते हो।

अश्विन ने इसके साथ ही कहा कि वह हमेशा क्षेत्ररक्षण के हिसाब से गेंदबाजी करते हैं। उन्होंने कहा कि जब हम पहले गेंदबाजी करते हैं तो मैं कम से कम रन देना चाहता हूं। मेरा काम अपने क्षेत्ररक्षण के अनुसार गेंदबाजी करना होता है और यदि इस प्रक्रिया में मैं कुछ विकेट हासिल कर लेता हूं तो मैं पूरी तरह से भिन्न गेंदबाज बन जाता हूं।

उन्होंने इसके साथ ही कहा कि गेंदबाजी करते समय भारतीयों के दिमाग में यह बात नहीं थी कि उन्हें कितने लक्ष्य का पीछा करना है। अश्विन ने कहा कि हम केवल इस बात को लेकर चिंतित थे कि पहले पांच ओवर कैसे खेले जाएं। यदि वे अच्छी शुरुआत करते हैं तो फिर वापसी करना आसान नहीं होता।

अश्विन ने स्वीकार किया कि न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले मैच में हार के बाद टीम दबाव में थी। उन्होंने कहा, हमारे लिए उसे भूलना और नए सिरे से मैच खेलना जरूरी था। हमने ऐसा ही किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories